कर्ज माफी की मांग को लेकर राज्य सरकार और किसानों के बीच वार्ता


राजस्थान के सीकर सहित दस जिलों में कर्ज माफी सहित 11 सूत्रीय मांगों को लेकर किसानों का महापडाव जारी है वहीं दूसरी ओर राज्य सरकार और किसानों के बीच आज फिर समझौता वार्ता रखी गयी है।

किसानों द्वारा जगह जगह लगाये गये चक्का जाम और धरने के कारण सीकर, चुरू, गंगानगर, सहित कई शहरों में आवागमन प्रभावित हुआ है और इन मार्गो से गुजरने वाले वाहनों को दूसरे मार्गो से निकाला जा रहा है। किसानों के महापडाव से सब्जियों और दूध के दामों में बेतहाश वृद्धि हुयी है।

सीकर से प्राप्त जानकारी के अनुसार वहां चक्का जाम के कारण शहर में आना जाना पूरी तरह से बंद है। केवल पैदल आने के अलावा कोई साधन नहीं है। भारी संख्या में किसान कृषि मंडी में सीकर-जयपुर मार्ग पर डेरा डाले हुए हैं।

किसान पूरे जिले में करीबन 150 से अधिक स्थानों पर जाम लगाए बैठे हैं जिसमें काफी संख्या में महिलाएं भी शामिल है। किसानों की कर्ज माफी और स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशों को लागू करने सहित 11 सूत्रीय मांगों पर कृषि मंत्री प्रभुलाल सैनी और पूर्व विधायक अमराराम के नेतृत्व में किसानों का प्रतिनिधि मंडल के साथ कल हुयी समझौता वार्ता बेनतीजा रही। हालांकि बैठक में कर्जमाफी सहित कुछ मुद्दों को छोड़ कर अन्य मांगों पर सहमति बनी थी।