राजनाथ ने CRPF और जम्मू कश्मीर पुलिस की सराहना की


नई दिल्ली : केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने जम्मू कश्मीर के बांदीपुरा जिले में केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल के शिविर पर आतंकवादियों के हमले को विफल करने तथा उनका सफाया करने के लिए CRPF तथा जम्मू कश्मीर पुलिस के जवानों की मुस्तैदी और बाहदुरी की सराहना की है। अत्याधुनिक हथियारों और हथगोलों से लैस आतंकवादियों ने सुबह 4 बजे के करीब सीआरपीएफ के संबल स्थित शिविर पर हमला किया। आतंकवादियों की मंशा शिविर में घुसकर जवानों को बंधक बनाने तथा भारी नुकसान पहुंचाने की थी।

उन्होंने संतरियों की चौकी पर हमला बोल कर तारों को काटकर अंदर घुसने की कोशिश की। संतरियों ने मुस्तैदी दिखाते हुए जवाबी फायरिंग की। दोनों ओर से भारी फायरिंग हुई और आतंकवादियों ने इस दौरान करीब 25 हथगोले भी फेंके। हालांकि सीआरपीएफ के जवानों ने पास में ही स्थित जम्मू कश्मीर पुलिस के कैम्प के सिपाहियों के साथ मिलकर चारों आतंकवादियों का सफाया कर दिया। मारे गये आतंकवादियों के पास से हथगोले, गोला बारूद और स्वचालित हथियार बरामद हुए हैं।

श्री सिंह ने कहा कि सीआरपीएफ और पुलिस के जवानों ने असाधारण साहस और बहादुरी का परिचय देते हुए इस हमले को नाकाम कर दिया। उन्होंने कहा कि इन जवानों की यह कार्रवाई प्रेरणादायक है और यह सराहनीय है कि जवान पूरी रात मुस्तैदी से चौकसी करते हैं। जम्मू कश्मीर पुलिस के सिपाहियों के सहयोग की भी प्रशंसा करते हुए उन्होंने कहा कि इस संयुक्त कार्रवाई से सुरक्षा बलों का गौरव बढा है।

गृह मंत्री ने कहा राष्ट्र और मैं सीआरपीएफ की 45 वीं बटालियन, सभी सुरक्षा बलों और जम्मू कश्मीर पुलिस को उनकी बहादुरी और साहस के लिए सलाम करते हैं। उन्होंने कहा कि संबल शिविर में तैनात कमांडेंट इकबाल अहमद, कंपनी कमांडर शंकरलाल जाट और पंकज हालू, गार्ड कमांडर पंकज कुमार और सिपाही के दिनेश राजा तथा प्रफुल कुमार एवं अन्य साहसी अधिकारियों एवं जवानों को मुस्तैदी तथा बहादुरी के लिए पुरस्कृत किया जाना चाहिए।