200 रुपये के नोट जारी करेगा आरबीआई, छपाई शुरू


मुंबई/कोलकाता : नोटबंदी के बाद सरकार ने बाजार में 500 और 2000 के नए नोट पेश किए थे। अब इसके बाद आरबीआई जल्द ही 200 रुपए का नया नोट लेकर आने वाली है और इसके लिए नोट की छपाई भी शुरू हो चुकी है। एक अंग्रेजी अखबार की खबर के अनुसार रिजर्व बैंक ने अपनी कुछ यूनिट्स में नए नोट की छपाई शुरू कर दी है।

माना जा रहा है की रोजमर्रा के लेनदेन को आसान बनाने के उद्देश्य से इस नोट को बाजार में उतारा जाएगा। अखबार के दावा है कि मामले से जुड़े दो लोगों के अनुसार रिजर्व बैंक ने कुछ हफ्ते पहले ही इन नोटों की छपाई का आदेश दिया है। पहले इन नोटों को जुलाई में जारी करने की बात कही गई थी लेकिन अब संभव है कि इसमें कुछ देरी हो जाए।

Source

हालांकि रिजर्व बैंक की तरफ से इसे लेकर कोई आधिकारिक बयान जारी नहीं किया गया है लेकिन अखबार को दिए एक बयान में स्टेट बैंक के ग्रुप चीफ इकॉनामिस्ट सौम्या कांति घोष के अनुसार , ‘दैनिक लेन-देन के मकसद से 200 रुपये के नोट लाए जाने से कामकाज में आसानी होगी।’ बता दें कि नरेंद्र मोदी सरकार ने बीते साल 8 नवंबर को काले धन की इकॉनमी और नकली नोटों के धंधे पर चोट करने के मकसद से 500 और 1000 रुपये के नोटों को अमान्य कर दिया था। इसके बाद 500 और 2000 रुपये के नए नोट जारी किए गए थे।

बता दें कि रिजर्व बैंक ने मार्च में हुई एक बैठक में 200 रुपए के नोटों को लागू करने का फैसला किया था। घोष के अनुसार 200 रुपए का नोट बाजार में आने के बाद छोटे नोटों की कमी पूरी करने में मदद मिलेगी।

नोटों का इतिहास

Source

नोटों का इतिहास बड़ा दिलचस्प है। भारतीय रिजर्व बैंक ने 1938 में 10 हजार रुपए का अब तक के सबसे ऊंचे मूल्य का नोट छापा था। लेकिन 1946 में यह चलन से बाहर कर दिया गया। फिर 1954 में इसकी वापसी हुई। जनवरी, 1978 में इसे दोबारा बंद कर दिया गया।

जनवरी, 1946 से पहले तक 1000 और 10 हजार रुपए के बैंक नोट चलन में थे। फिर 1954 में 1000, 5000 और 10,000 रुपए के नोटों को दोबारा लाया गया। जनवरी 1978 में सभी को बंद कर दिया गया।

महात्मा गांधी सीरीज-1996

नवंबर, 2001 : 5 रुपए

जून, 1996 : 10 रुपए

अगस्त, 2001 : 20 रुपए

मार्च, 1997 : 50 रुपए

जून, 1996 : 100 रुपए

अक्टूबर 1997 : 500 रुपए

नवंबर, 2000 : 1000 रुपए

महात्मा गांधी सीरीज-2005

इसके तहत अतिरिक्त सुरक्षा के साथ 5, 10, 20, 50 और 100 रुपए मूल्य के नोट छपे।