लालू राजद के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दें : सुशील


पटना : बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) विधानमंडल दल के नेता सुशील कुमार मोदी ने 9 माह में चारा घोटाले से जुड़े सभी मामलों में षडयंत्र की धारा शामिल करते हुए अलग- अलग ट्रायल कराने के सर्वोच्च न्यायालय के फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि अब बाकी बचे चार मामलों में भी सजा निश्चित तौर पर मिलने के कारण श्री लालू प्रसाद यादव को राजद अध्यक्ष के पद से इस्तीफा देकर परिवार के बाहर के किसी व्यक्ति को पार्टी का जिम्मा सौंपना चाहिए।

श्री मोदी ने यहां कहा कि 900 करोड़ रूपये के चारा घोटाले के मामले में श्री यादव के खिलाफ इतने सबूत हैं कि बाकी बचे चार मामलों में भी उन्हें निश्चित रूप से सजा होगी और अगले 20 वर्षों तक श्री यादव मुखिया का भी चुनाव नहीं लड़ पाएगें। उन्होंने कहा कि सर्वोच्च न्यायालय के इस फैसले के बाद श्री यादव को खुद राजद के राष्ट्रीय अध्यक्ष के पद से इस्तीफा दे देना चाहिए और परिवार के बाहर के किसी व्यक्ति को अध्यक्ष घोषित कर देना चाहिए।

भाजपा नेता ने कहा कि श्री यादव को चारा घोटाले में जेल भेजवाने, सजा दिलवाने में भाजपा और श्री नीतीश कुमार, श्री शिवानन्द तिवारी और श्री ललन ङ्क्षसह की बड़ी भूमिका रही है। उन्होंने कहा कि यह बात अलग है कि श्री कुमार ने मुख्यमंत्री की गद्दी बचाने के लिए श्री यादव से समझौता कर लिया, लेकिन भाजपा अपराध और भ्रष्टाचार के पर्याय श्री यादव एवं उनको संरक्षण देने वाले श्री नीतीश कुमार के खिलाफ लड़ाई जारी रखेगी।

श्री मोदी ने कहा कि सर्वोच्च न्यायालय के इस फैसले से श्री नीतीश कुमार को सर्वाधिक खुशी होगी। क्योंकि मो0 शहाबुद्दीन से मोबाइल पर वार्ता और हजार करोड़ से ज्यादा की बेनामी सम्पति के खुलासे में फंसे श्री यादव अगले 9 माह तक कचहरी, तारीख, मुकदमों, वकील में फंसे रहने के कारण श्री कुमार की सरकार के सामने कोई संकट पैदा नहीं कर पाएँगे।

भाजपा नेता ने कहा कि श्री कुमार चारा घोटाले के सजायाफ्ता और माफिया डॉन शहाबुद्दीन को राजद की राष्ट्रीय कार्यकारणी में रखने वाले श्री यादव जैसे लोगों को साथ रखकर श्री नरेन्द्र मोदी और भाजपा का मुकाबला नहीं कर पाएँगे।

– (वार्ता)