स्कूल शिक्षा विभाग की बड़ी कार्यवाही


विदिशा : जॉयफूल लर्निंग शैक्षणिक गतिविधियों की क्रास मानिटरिंग के लिए जिला परियोजना समन्वयक एसके खाण्डे के द्वारा विशेष प्रबंध सुनिश्चित किए गए है। जिसके तहत प्रत्येक शैक्षणिक संस्थाओं में पदस्थ शिक्षकों की पहचान के लिए उनके फोटोयुक्त फ्लैक्स भी स्कूलों में लगाए जा रहे है।

जॉयफुल लर्निंग के तहत विद्यार्थियों को विभिन्न विधाओं के माध्यम से शैक्षणिक जानकारियां सुगमता से खेल-खेल में दी जा रही है। डीपीसी खाण्डेकर ने बताया कि आकस्मिक निरीक्षणों के दौरान शैक्षणिक संस्थाओं में अनुपस्थित पाए गए 33 प्रधानाध्यापक एवं शिक्षकों को शोकॉज नोटिस जारी किए गए है।

संबंधितों से तीन दिवस के भीतर जबाव प्रस्तुत करने के निर्देश दिए गए है।जिन प्रधानाध्यापक एवं शिक्षको को शोकॉज नोटिस जारी किए गए है उनमें शासकीय प्राथमिक शाला बिलौरी की श्रीमती सीमा तिवारी, आशा द्विवेदी, शासकीय माध्यमिक शाला सलैया की हेमलता माकरे, रजनी चौकसे, शासकीय माध्यमिक शाला माधवगंज कीर्ति शर्मा, शशिकला दुबे, सुरेश पाटिल, सुधा पवार, कुमारी सरोज त्रिपाठी, कृष्णकुमार शर्मा, अरूण शर्मा, उषा आचार्य, चंचल श्रीवास्तव, श्रीमती रमा तिवारी,

शासकीय माध्यमिक शाला बिलौरी की मालती शर्मा, सीमा चतुर्वेदी, श्रीमती सरिता भगौरिया, शासकीय प्राथमिक शाला करारिया, आशा राजपूत, श्रीमती प्रगति कद्रे, सुनीता मिश्रा, माध्यमिक शाला मोहानाखेजडा के मट्टूलाल चिडार, शासकीय कन्या प्राथमिक के सौरभ नामदेव, शासकीय प्राथमिक शाला खरी श्रीमती अर्चना त्रिपाठी, संगीता त्रिपाठी, शासकीय प्राथमिक शाला माधवगंज श्रीमती संध्या श्रीवास्तव, पुलिस लाइन श्रीमती कांति लारिया, श्रीमति कुमुद कौशिक, श्रीमती निरंजना नेमा आदि नाम शामिल है।

देश की हर छोटी-बड़ी खबर जानने के लिए पड़े पंजाब केसरी अख़बार