धनशोधन मामले में ED के सामने पेश हुए शैलेश कुमार


राजद सांसद मीसा भारती के पति शैलेश कुमार 8000 करोड़ रूपये के धनशोधन मामले के संबंध में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के समक्ष आज पेश हुए। राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव की बेटी भारती केंद्रीय जांच एजेंसी के समक्ष कल पेश हुई थीं और उनसे 8 घंटे पूछताछ की गई थी।इससे पहले शैलेश को सोमवार को पेश होने को कहा गया था लेकिन वह तब उपस्थित नहीं हो पाए थे जिसके बाद उन्हें आज पेश होने के लिए फिर से समन दिया गया था। अधिकारियों ने गोपनीयता की शर्त पर बताया कि शैलेश और उनकी पत्नी के विथीय एवं कारोबारी लेन देन के संबंध में मीसा द्वारा दिए गए बयानों एवं इस मामले में ईडी द्वारा जब्त दस्तावेजों के आधार पर शैलेश से पूछताछ की जाएगी।

एजेंसी द्वारा धनशोधन रोकथाम कानून (पीएमएलए) के तहत शैलेश का बयान दर्ज किए जाने की संभावना है। उन्होंने बताया कि शैलेश से उनकी पत्नी की तरह मैसर्स मिशैल प्रिंटर्स एंड पैकर्स प्राइवेट लिमिटेड कंपनी और अन्य विथीय मामलों में उनकी भूमिका तथा इसे मामले में एजेंसी द्वारा पहले गिरफ्तार एक चार्टर्ड अकाउंटेंट से उनके संबंधों के बारे में पूछताछ की जाएगी। प्रवर्तन निदेशालय ने मामले के सिलसिले में 8 जुलाई को मीसा और कुमार के दिल्ली स्थित तीन फॉर्म हाउसों और कंपनी की तलाशी ली थी। भ्रष्टाचार के एक मामले की जांच के तहत सीबीआई ने लालू प्रसाद और उनके परिवार के कई ठिकानों पर छापेमारी की थी, जिसके एक दिन के बाद ईडी ने 8 जुलाई को छापा मारा था।

दिल्ली स्थित दो व्यापारी बंधु सुरेन्द्र कुमार जैन एवं वीरेंद्र जैन और अन्य लोगों के खिलाफ 8,000 करोड़ रुपये के धनशोधन के मामले में एजेंसी की जांच में मीसा और उनके पति को ताजा समन जारी किए गए हैं। जैन बंधुओं सहित अन्य लोगों पर 90 से अधिक फर्जी कंपनियों के जरिए कई करोड़ रुपये का धन शोधन करने का आरोप है। ईडी पीएमएलए के तहत जैन बंधुओं को पहले ही गिरफ्तार कर चुका है। गिरफ्तार किए गए ये दोनों लोग जिन कंपनियों से जुड़े थे, उनमें मिशैल प्रिंटर्स एंड पैकर्स प्राईवेट लिमिटेड भी शामिल है। मीसा और उनके पति इस कंपनी के कथित तौर पर निदेशक रहे हैं। ईडी अधिकारियों के अनुसार यह पता लगाया गया है कि मिशैल प्रिंटर्स एंड पैकर्स प्रा लि के 1,20,000 शेयर वर्ष 2007 -2008 के दौरान 100 रूपये प्रति शेयर की दर से खरीदे गए थे।

इसे चार फर्जी कंपनियों – मैसर्स शालिनी होल्डिंग्स लिमिटेड, मैसर्स एड फिन कैपिटल सर्विसेज (इंडिया) प्राइवेट लिमिटेड, मैसर्स मणि माला दिल्ली प्रोपर्टीज प्राइवेट लिमिटेड और मैसर्स डायमंड विनिमय प्राइवेट लिमिटेड ने खरीदा था। इसने बताया कि इन 1,20,000 शेयरों को मीसा ने 10 रूपये प्रति शेयर की दर से वापस खरीद लिया। लालू प्रसाद के परिवार की कथित विथीय अनियमितताओं की जांच करने वाली प्रवर्तन निदेशालय तीसरी केंद्रीय एजेंसी है। सीबीआई और आयकर विभाग ने उनके खिलाफ अपनी जांच के तहत हाल ही में करीब 180 करोड़ रूपये की बेनामी संपति कुर्क की थी।