प्रधानमंत्री की विवादास्पद तस्वीर साझा करना महंगा पड़ा


भागलपुर : व्हाट्सएप ग्रुप में प्रधानमंत्री मोदी की विवादास्पद तस्वीर साझा करना बिहार के खगड़िया के एक पुलिस निरीक्षक (इंसपेक्टर) को महंगा पड़ गया है। इस मामले में शिकायत आने और जांच में मामले के सही पाए जाने के बाद पुलिस निरीक्षक को निलंबित कर दिया गया है।

पुलिस के अधिकारी ने बताया कि खगड़िया में तैनात पुलिस निरीक्षक मोहम्मद इस्लाम अंसारी (57) ने इस महीने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आतंकवादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा प्रमुख हाफिज सईद के साथ फोटोशॉप कर एक तस्वीर उद्योग प्रकोष्ठ के एकव्हाट्सएप ग्रुप में शेयर की थी और साथ में कुछ आपत्तिजनक बातें भी लिखी थी।

इसी ग्रुप में भाजपा के एक कार्यकर्ता आलोक कुमार विद्यार्थी भी शामिल थे। विद्यार्थी ने इसकी शिकायत भागलपुर प्रक्षेत्र के पुलिस उप महानिरीक्षक (डीआइजी) विकास वैभव से की। वैभव ने तत्काल इस मामले की जांच के निर्देश खगड़िया के पुलिस अधीक्षक को दे दी। विकास वैभव ने बताया, ‘इस मामले की जांच करने के बाद मामले को सत्य पाया गया। इसके बाद आरोपी पुलिस निरीक्षक को निलंबित कर दिया गया है।

तथा उनके खिलाफविभागीय कार्यवाही शुरू करने का आदेश जारी कर दिया गया है।’ उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री की हाफिज से हाथ मिलाती हुई आपत्तिजनक तस्वीर को भी व्हाट्सएपग्रुप से हटा दी गई है। निलंबित पुलिस निरीक्षक ने सफाई देते हुए कहा कि उनके पोते के हाथ से उनके मोबाइल से उक्त संदेशमैसेज ग्रुप में शेयर हो गया था।

अधिक लेटेस्ट खबरों के लिए यहां क्लिक  करें।