शिवराज आज तोड़ सकते है अपना उपवास


भोपाल : मध्यप्रदेश ( MP ) में शांति बहाली के उद्देश्य से  मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का शनिवार से शुरु किया गया अनिश्चितकालीन उपवास आज दूसरे दिन भी जारी रहा ।

MP में जारी किसानों के आंदोलन और हिंसा के बीच मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने का कहना है कि हिंसा के लिए किसान जिम्मेदार नहीं हैं। शिवराज ने आरोप लगाया कि कांग्रेस की साजिश से आंदोलन हिंसक हुआ है।

आज सुबह मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के उपवास स्थल के मंच पर बैठते ही किसानों के प्रतिनिधिमंडलों का उनसे मुलाकात का दौर भी शुरु हो गया है। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के उपवास स्थल पर महात्मा गांधी के प्रिय भजन चलाए गए।

शिवराज के उपवास के मंच के पीछे पंडित दीनदयाल उपाध्याय और महात्मा गांधी जी का चित्र भी लगाया गया है।  वही मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के साथ उनकी धर्मपत्नी और मंत्रिमंडल के कई सदस्य भी मौजूद रहे।

सूत्रों के हवाले से सूचना है कि कल मंदसौर में गोलीबारी में मरने वाले किसानों के परिजन की मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मुलाकात के बाद आज शिवराज सिंह चौहान अपना उपवास तोड़ सकते हैं।

मृतक किसानों के परिजन ने उपवास स्थल राजधानी भोपाल के दशहरा मैदान पर शिवराज सिंह चौहान से मुलाकात करने के बाद उनसे उपवास तोडऩे की भावुक अपील की थी। इसके पहले राजधानी में शनिवार और रविवार की दरमियानी रात तेज बारिश के कारण उपवास स्थल पर कई जगह अव्यवस्थाएं भी फैल गईं।

बताया जा रहा है कि प्रशासन ने बारिश की आशंका के चलते यहां वाटरप्रूफ पंडाल लगाया था लेकिन इसके बाद भी कई जगह कीचड़ और जलभराव जैसे हालात पैदा हो गए। दशहरा मैदान के आसपास सुबह से प्रदेश भर के किसानों के वाहनों का जमावड़ा लग गया था। किसान बसों और निजी वाहनों से राजधानी स्थित उपवास स्थल तक पहुंच रहे हैं।