समग्र विकास के लिए सामाजिक-सांस्कृतिक विकास जरूरी


ग्वालियर : उच्च शिक्षा एवं लोक सेवा प्रबंधन मंत्रीजयभान सिंह पवैया ने कहा विकास के मायने केवल सड़क, पुलिया, भवन एवं पेयजल व सीवर की लाईनें बिछाना भर नहीं है। समग्र विकास के लिए अधोसंरचनागत विकास के साथ-साथ सामाजिक एवं सांस्कृतिक विकास भी जरूरी है। केन्द्र व राज्य सरकार इसी भावना के साथ काम कर रही है। पवैया यहाँ हजीरा क्षेत्र के अंतर्गत रेशममिल पार्क में विकास एवं जन संवाद यात्रा के तहत आयोजित कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे।

कार्यक्रम की अध्यक्षता महापौर विवेक नारायण शेजवलकर ने की। शहर के वार्ड-16 से श्री पवैया ने ग्वालियर विधानसभा क्षेत्र की विकास एवं जन संवाद यात्रा की शुरूआत की। इस अवसर पर लगभग 526 लाख रूपए लागत के विकास कार्यों का लोकार्पण किया। साथ ही इस क्षेत्र के तीन हितग्राहियों को प्रतीक स्वरूप प्रधानमंत्री आवास की चाबी और पांच श्रमिकों को असंगठित श्रमिक कल्याण योजना के कार्ड व दो कन्याओं को लाड़ली लक्ष्मी योजना के प्रमाण-पत्र सौंपे।

उच्च शिक्षा मंत्री पवैया ने कहा कि केन्द्र व राज्य सरकार ने समग्र विकास एवं लोक कल्याण के लिए तमाम योजनायें संचालित की जा रही हैं। इन योजनाओं के क्रियान्वयन से लोगों के जीवन स्तर में आया बदलाव स्पष्ट देखा जा सकता है। हजीरा व ग्वालियर क्षेत्र में जहाँ सुनियोजित ढंग से विकास कार्य हो रहे हैं वहीं सांस्कृतिक व सामाजिक विकास के लिए राष्ट्रीय रामायण मेला व सुश्री मालिनी अवस्थी जैसे लोक कलाकारों के कार्यक्रम भी आयोजित किए गए हैं।

महापौर श्री शेजवलकर ने कहा कि शहर की पेयजल समस्या के समाधान के लिए हर वार्ड के लिए अलग –अलग पानी के सर्किट बनाए जायेंगे। जिससे बिना टिल्लू लगाए अच्छे दबाव के साथ लोगों को पानी मिल सकेगा। उन्होंने कहा सीवर की समस्या के समाधान के लिए चार ट्रीटमेंट प्लांट स्थापित होंगे।

प्लांटों से निकले पानी से सब्जी की खेती हो सकेगी। पवैया एवं श्री शेजवलकर ने असंगठित श्रमिक कल्याण सहित अन्य योजनाओं की जानकारी दी और लोगों से इन योजनाओं का लाभ उठाने का आहवान किया। इस योजना के कार्डधारियों को सरकार मात्र 200 रूपए प्रतिमाह के बिल पर घरेलू उपयोग के लिए बिजली मुहैया करायेगी। उच्च शिक्षा मंत्री एवं अन्य अतिथियों ने इस अवर पर विकास पट्टिकाओं का अनावरण किया। कार्यक्रम में स्थानीय पार्षद श्रीमती राजकुमारी भारती सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण मंचासीन थे।

अधिक लेटेस्ट खबरों के लिए यहां क्लिक  करें।