सीबीएसई के दो विषयों का पेपर लीक होने से देशभर के 28 लाख छात्र परेशान हो गए हैं। नाराज छात्रों ने दिल्ली स्थित सीबीएसई बोर्ड के मुख्यालय पर जमकर नारेबाजी की और सड़क जाम कर दिया। छात्रों का कहना है कि अब सिर्फ सिर्फ पेपर लीक वाले दो विषय नहीं बल्कि सभी विषयों की परीक्षा दुबारे होनी चाहिए। वहीं दूसरी ओर दिल्ली पुलिस ने अबतक इस मामले में 30 से ज्यादा लोगों से पूछताछ कर चुकी है। ये सभी लोग या तो कोचिंग सेटर के संचालक हैं या फिर छात्र ।

आपको बता दें कि सीबीएसई पेपर लीक मामले में दिल्ली पुलिस सूत्रों के मुताबिक अभी तक 30 से ज्यादा लोगो से पूछताछ की जा चुकी है. ये सभी लोग या तो कोचिंग सेंटर के टीचर है या फिर स्टूडेंट हैं। अभी तक इस मामले में कोई भी अहम कड़ी पुलिस के हाथ नहीं लगी है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक आज भी राजेन्द्र नगर में कोचिंग सेंटर चलाने वाले विक्की से पूछताछ की जाएगी। कल रात उसे पूछताछ के बाद जाने दिया गया था. आज फिर उसे बुलाया गया है।

पुलिस के मुताबिक कल रात सीबीएसई के तीन अधिकारियों से बातचीत हुई थी जिससे पूछताछ नहीं कहा जा सकता है। बातचीत के दौरान उनसे सीबीएसई के पेपर्स को लेकर क्या प्रोसीज़र होता है इससे जुड़ी जानकारी ली गयी थी। पुलिस के मुताबिक अभी तक की जांच में पैसो के लेन देन के बारे में कोई बात सामने नहीं आई है।

सीबीएसई की 10वीं के गणित और 12वीं के अर्थशास्त्र के पेपर लीक मामले में अभी तक इसके मास्टरमाइंड की गिरफ्तारी नहीं हुई है। दिल्ली पुलिस की जांच जारी है जिसके सिलसिल में पुलिस ने बुधवार रात करीब 10 जगहों पर छापेमारी की. हालांकि, पुलिस ने छापेमारी का आधिकारिक खुलासा नहीं किया है।

क्राइम ब्रांच के स्पेशल सीपी आर पी उपाध्याय ने कहा है कि हमारे पास ऐसी कोई सूचना नहीं है कि यह लीक अखिल भारतीय स्तर पर हुई हो। लेकिन अगर ऐसी कोई बात सामने आती है तो हम दिल्ली के बाहर भी टीमें भेजेंगे। इस मामले में सीबीआई की तरफ से शिकायत मिलने पर दो एफआईआर दर्ज की गई थी।

हमारी मुख्य खबरों के लिए यहां क्लिक करे।