दिल्ली ,हरियाणा,राजस्थान में छाया चोटी चोर गैंग का आतंक


आजकल राजस्थान, हरियाणा, दिल्ली और उत्तर प्रदेश के कुछ इलाकों में इन दिनों ‘चोटी चोर’ का आतंक छाया हुआ है। यह चोटी चोर रात के समय अपने घरों में सो रही महिलाओं की चोटी के बाल काट लेता है। इस तरह की अफवाहें इन चारों ही राज्यों के आपस में सटे हुए इलाकों में ज्यादा सामने आ रही हैं। हालांकि इस तरह की अफवाहें क्यों फैलाई जा रही हैं इसकी कोई खास वजह सामने नहीं आई है।

जहां आज आगरा में भीड़ ने एक शख्स को चोटी काटने वाला समझकर उसे पीट पीट कर मार डाला । आपको बता दे कि इस गैंग ने अब गुरुग्राम (गुड़गांव) और दिल्‍ली में इस तरह की वारदात को अंजाम देना शुरू कर दिया है । पिछले 24 घंटे में पलवल में 7 महिलाओं और दो किशोरियों, फरीदाबाद में एक के साथ चोटी काटने की वारदात हो चुकी है। जिसके बाद से लोग सदमे में आ गए हैं। वहीं, दिल्ली के छावला स्थित कांगनहेड़ी गांव में भी महिला की चोटी काट ली गई। रविवार की पूरी रात जागने के बाद यहां के युवा, बुजुर्ग और बच्चे सब डरे हुए हैं।

रन्हेड़ाखेड़ा गांव में मगंलवार को सरेआम एक किशोरी की चोटी काटने का मामला सामने आया है । हथीन के गांव कूकरचाटी में सोमवार को एक महिला की चोटी कटने के बाद कुछ घंटों बाद उसकी बहू की चोटी भी कट गई।

मथुरा में तीन दिनों के भीतर चोटी काटने की 5 घटनाएं सामने आई हैं. प्रशासन ने ग्रामीणों को अफवाहों से सतर्क रहने की सलाह दी है।

वही चोटी काटने की अफवाहों के बीच अंधविश्वास को भी बढ़ावा मिल रहा है। इस तरह अफवाहों और दावों के बीच लोग इस तरह की घटनाओं से बचने के लिए विचित्र सलाहें भी दे रहे हैं। दिल्ली के कुछ गांवों में लोग इस तरह कीघटनाओं से बचने के लिए घरों में नींबू और नीम की पत्तियां टांग रहे हैं। तो राजस्थान के कुछ इलाकों में महिलाएं एक दूसरे को सलाह दे रही हैं चोटी चोर से बचने के लिए महिलाएं लाल चूड़ियां पहनें और घरों के बाहर हाथ से मेहंदी के छापे लगाएं।

बता दे कि पुलिस का कहना है कि चोटी काटने की घटनाएं राजस्थान के गांवों से शुरू हुई है। इसके बाद हरियाणा के झज्जर, मेवात, रोहतक आदि जिले के गांवों में महिलाओं की चोटी काटने की घटनाएं हुईं। धीरे-धीरे चोटी काटने की घटनाएं गुरुग्राम के गांवों में भी होने लगी हैं।