स्मृति पर फेंकी गई चूड़ियां, बोली- विरोधियों की ये स्ट्रैटजी गलत


मोदी सरकार के 3 साल की उपलब्धियां गिनाने गुजरात के अमरेली पहुंचीं स्मृति ईरानी की रैली में सोमवार शाम कुछ लोगों ने हंगामा किया। स्मृति लोगों को संबोधित कर रही थीं, तभी एक शख्स खड़ा हुआ और उनकी ओर चूड़ियां फेंक दीं। चूड़ियां फेंकने वाले शख्स को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। गुजरात में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं, ऐसे में चूड़ी फेंके जाने जैसी हरकतों की अपेक्षा पहले से थी। उन्होंने कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए कहा कि ‘पुरुष को भेजा है महिला पर आक्रमण करने के लिए, कांग्रेस की वो स्ट्रेटजी थोड़ी गलत है’। हालांकि इस मामले में अभी तक ये स्पष्ट नहीं हो पाया है कि चूड़ी फेंकने वाला शख्स कांग्रेस से जुड़ा है।

                                                                                           Source

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी पर चूड़ियां फेंकने के मामले में पुलिस ने एक व्यक्ति को आज हिरासत में लिया। पुलिस ने बताया कि तकरीबन 20 साल की उम्र के व्यक्ति की पहचान अमरेली जिला के मोटा भंडारिया गांव निवासी केतन कासवाला के तौर पर हुई है। अमरेली के पुलिस अधीक्षक र्एसपी जगदीश पटेल ने बताया कि घटना शाम को उस वक्त हुई जब केंद्रीय कपड़ा मंत्री नरेंद्र मोदी सरकार के तीन साल पूरे होने के उपलक्ष्य में आयोजित एक समारोह में आए लोगों को संबोधित कर रही थीं। कासवाला ने केंद्रीय मंत्री पर चूड़ी फेंकते हुए वंदे मातरम के नारे लगाए।

                                                                                                    Source

मीडिया रिपोर्ट्स में बताया जा रहा है कि केतन कासवाला को बाद में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने खुद पुलिस को निर्देश देते हुए रिहा करा दिया। स्मृति ने पुलिस से ये भी कहा कि कासवाला को कार्यक्रम में हिस्सा लेने दिया जाए और अगर वह चूड़ियां फेंक रहा है तो उसे वो भी करने दिया जाए। स्मृति ईरानी ने पुलिसवालों से कहा कि जो चूड़ियां ये मुझपर फेंक रहा है मैं उसे बटोरकर इसकी पत्नी को उपहार के तौर पर भेज दूंगी।