वर्णिका मेरी बेटी के मामले पर बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष का बड़ा बयान बेटे पर होनी चाहिए सख्त करवाई


हरियाणा में आजकल के ही बात चल रही है। आईएएस की बेटी को हरियाणा ने बीजेपी नेता के बेटे ने छेड़ा है। यह मामला काफी जोरो पर है और यह सिर्फ हरियाणा में ही नहीं जोर पकड़ा रहा है यह देश में भी जोर पकड़े हुआ है। देश की राजनीति में यह जोर पकड़ा रहा है। जब से यह मामला आया है तब से जिस लड़के ने लड़की को छेड़ा था वह और उसके परिवार वालों ने एक बार भी मीडिया के सामने नहीं आएं थे।

लेकिन अब आपको बता दें कि जिस लड़के ने आईएएस की बेटी के साथ छेड़छाड़ की थी उस लड़के के पिता यानि हरियाणा बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला ने मीडिया के सामने आ कर इस मामले में अपना बड़ा बयान दिया है। सुभाष बराला ने कहा कि वर्निका मेरी बेटी की तरह है। उसे न्याय जरूर मिलेगा। विकास के खिलाफ कानून के मुताबिक कार्रवाई होनी चाहिए। मेरा और बीजेपी का इस मामले से कोई लेना देना नहीं।

आपको बता दें कि हरियाणा बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला के बेटे विकास बराला पर वर्णिका कुंडू को छेडऩे का आरोप लगाया है। इस मामले ने अब राजनीतिक रूप ले लिया है और हर दिन यह मामला एक नया ही मोड़ ले लेता है और यह मामला हर रोज गरमा रहा है। बता दें कि एक तरफ वर्णिका कुंडू और उनके पिता अपला पक्ष खुल कर रख रहे हैं। वर्णिका यही बोल रही है कि वह इस लड़ाई में पीछे नहीं हटेगी और आरोपियों को सजा जरूर दिलवाईगी। जो कोई भी कुछ भी कर ले।

बता दें कि दूसरी तरफ इस मामले में चंडीगढ़ पुलिस की कार्रवार्ई पर भी काफी सवाल उठ रहे हैं। पहले तो इस मामले में सीसीटीवी फुटेज गायब हो गई फिर उसके बाद पुलिस यह दावा कर रही है कि उसे पांच सीसीटीवी फुटेज मिल गई हैं।

बराला विरोधी लॉबी सक्रिय हुई और नए चेहरे की तलाश शुरू हो गई

इस मामले के भी कर्ई साइड इफेक्ट हो रहे है जो कि अब दिखार्ई दे रहे हैं। बीजेपी नेता सुभाष बराला के बेटे की इस हरकत की वजह से हरियाणा पार्टी में अंदरुनी राजनीति भी बदल रही है। इन सारी चीजों को देखकर यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि कुछ भी बदलाव आ सकते हैं। इस मामले में बराला विरोधी लॉबी बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला को घेर सकती है। बता दें कि बराला को सीएम का खास दोस्त भी माना जाता है।

ऐसे में जितने भी असंतुष्ट लोग हैं वह इस मौके का फायदा लेना चाहते हैं। आपको बता दें कि भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के रोहतक प्रवास में मजबूत बनकर उभरे बराला के लिए आने वाले कुछ दिन काफी कठिन हो सकते हैं। अभी तक तो बराला के साथ भाजपा के आला नेता उनके साथ दिख रहे हैं।

नए चेहरे को लेकर भी होने लगीं चर्चाएं

बेटे के फंसने के बाद से ही भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला के भविष्य को लेकर चर्चाएं जारी हैं। बराला के हटने की दशा में भाजपा के अंदर ही नए चेहरे पर कयास लगाए जाने लगे हैं। पिछले दिनों भाजपा ओबीसी के मुद्दे को ज्यादा उठाती रही है। अमित शाह ने अपने रोहतक प्रवास के दौरान कांग्रेस पर ओबीसी विरोधी होने का आरोप लगाते हुए कार्यकर्ताओं को निर्देश दिए थे।

ऐसे में माना जा रहा है कि बदले जाने की स्थिति में नया अध्यक्ष ओबीसी वर्ग का ही हो सकता है। राजकुमार सैनी के मोर्चे से निपटने के लिए किसी सैनी को अध्यक्ष बनाने की वकालत पहले ही हो चुकी है। अहीरवाल में पकड़ और मजबूत बनाने के लिए किसी यादव चेहरे को भी सामने लाया जा सकता है।