योग की शक्ति ने पूरे दुनिया को भारत के साथ जोड़ा : मोदी


दिल्ली/लखनऊ :  आज माननीय प्रधानमंत्री मोदी जी ने इंटरनेशनल योग दिवस के अवसर पर कहा कि आत्मा को मन और शरीर से एक साथ जोड़ने की योग की शक्ति ने पूरे दुनिया को इंडिया के साथ जोड़ा है।

योग को विश्व में रोजगार का नया बाजार करार देते हुए PM मोदी ने कहा कि योग के कारण पूरी दुनिया भारत से जुड़ने लगी है।

PM मोदी ने यहां रमाबाई अंबेडकर मैदान पर तीसरे इंटरनेशनल योग दिवस के मौके पर आयोजित प्रोग्राम में लगभग 50 हजार लोगों के साथ योग करने से पहले अपने संबोधन में बताया कि दुनिया  के अनेक देश, जो न हमारी भाषा जानते हैं, न हमारी परम्परा जानते हैं, न हमारी संस्कृति से परिचित हैं, लेकिन योग के कारण आज पूरा विश्व भारत के साथ जुड़ने लगा है।

योग – जो शरीर, मन, बुद्धि को जोड़ता है, वो योग आज विश्व को अपने साथ जोडऩे में बहुत अहम भूमिका अदा कर रहा है। PM मोदी ने कहा कि विश्व में एक नया रोजगार बाजार योग द्वारा तैयार हो रहा है और भारत के लोगों की प्राथमिकता सारी विश्व में सबसे पहले रहती है। PM मोदी ने ये भी बताया कि योग के कारण अनेक नये नये योग संस्थान आज विकसित हुए हैं। पिछले 3 साल  में बहुत बड़ी संख्या में योग शिक्षकों की मांग बढ़ी है। योग प्रशिक्षण संस्थानों में भी नौजवान योग को एक पेशे के रूप में स्वीकार करते हुए अपने-आप को तैयार कर रहे हैं। विश्व के सब देशों में योग शिक्षकों की मांग हो रही है।

PM मोदी ने कहा कि स्वास्थ्य के लिए कई बेहतर साधन और विकल्प हैं लेकिन मन की शांति और खुशी के लिए योग ही एकमात्र विकल्प है। PM मोदी ने बताया कि योग को लेकर आज विश्व के किसी भी देश में कोई सवाल खड़े नहीं किए जा रहें हैं।

पहले योग ऋषि-मुनियों और महात्माओं तक ही सीमित था लेकिन अब यह घर-घर और जन-जन तक पहुंच गया है।

यू पी के चीफ मिनिस्टर योगी आदित्यनाथ ने इंटरनेशनल योग दिवस पर कहा कि योग जीवन जीने की एक कला है और इसमें समाज को एकजुट बनाने की अदभुत ताकत है तथा यही ताकत विश्व को एकजुट कर रही है। इस मौके पर PM मोदी और यू पी के CM आदित्यनाथ के अलावा यू पी के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य,राज्य सरकार के कई मंत्रियों ने भी योग सत्र में भाग लिया।

विशेष ये है कि इंडिया सहित विश्व के 150 देशों में आज इंटरनेशनल योग दिवस मनाया जा रहा है। मुख्य समारोह लखनऊ के रमाबाई अंबेडकर मैदान में आयोजित किया गया। सुबह जोरदार बारिश हुयी लेकिन इसके बावजूद लोगों ने प्रधानमंत्री के साथ मिलकर योग किया। प्रधानमंत्री मोदी जी ने इस दौरान लगभग 20 मिनट तक विभिन्न योगासन किए। उनकी लखनऊ यात्रा को लेकर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं।

दिल्ली में मुख्य समारोह कनॉट पेलेस में आयोजित किया गया जहां  दिल्ली  के उपराज्यपाल अनिल बैजल,  दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल और केंद्रीय सूचना प्रसारण मंत्री नायडू ने योग सत्र का नेतृत्व किया।

लद्दाख में 18 हजार फीट की उंचाई पर शून्य से 25 डिग्री नीचे तापमान पर इंडिया  -तिब्बत सीमा पुलिस के जवानों ने योग सत्र में हिस्सा लिया और मुंबई में युद्धक पोत INS विराट पर योग सत्र का आयोजन किया गया।

Source

अहमदाबाद में मुख्यमंत्री विजय रूपाणी, BJP अध्यक्ष अमित शाह और योग गुरू रामदेव ने योग सत्र में हिस्सा लिया। असम में मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल और छत्तीसगढ़ के रायपुर में मुख्यमंत्री रमन  ने योग सत्र में भाग लिया।

लखनऊ में आयोजित इस योग शिविर में 100 दिव्यांग बच्चों ने भी प्रधानमंत्री के साथ योग सत्र में हिस्सा लिया और इस दौरान इन बच्चों के चेहरों पर जो खुशी थी उसे शब्दों में बयान नहीं किया जा सकता है। योग सत्र की समाप्ति के बाद लोगों में PM मोदी से साथ सेल्फी लेने की मानो होड़ सी लग गई।


योग शिविर में भाग लेने के बाद प्रधानमंत्री मोदी जी सुबह करीब 07 : 45 बजे अमौसी एयरपोर्ट के लिये रवाना हो गये जहां से वह वायुसेना के विशेष विमान से दिल्ली लौट गये।

PM मोदी और गणमान्य लोगों के जाते ही कार्यक्रम स्थल में कुछ समय के लिये आपाधापी का माहौल व्याप्त हो गया। बारिश से बचने के लिये लोग मैदान पर पडी चटाई को लेकर बाहर निकलते दिखायी पडे। मैदान से एक साथ निकली भीड के कारण सडकों पर जाम के हालात बन गये हालांकि सुबह का वक्त होने की वजह से वाहनों की तादाद ना के बराबर थी।

चंडीगढ और दिल्ली के बाद लखनऊ में यह तीसरा इंटरनेशनल योग दिवस समारोह था। वर्ष 2015 में दिल्ली के राजपथ में पहली बार इंटरनेशनल योग दिवस मनाया गया था। इस कार्यक्रम के जरिये आयोजक आयुष मंत्रालय ने दो गिनीज बुक आफ वल्र्ड रिकार्ड स्थापित किये थे।

दो कीर्तिमानों में एक योग शिविर में 35 हजार 985 लोगों ने हिस्सा लिया था जो दुनिया के 84 देशों में आयोजित योग दिवस में भाग लेने वाले प्रतिभागियों की तुलना में सबसे अधिक थी। चंडीगढ में आयोजित दूसरे अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर प्रधानमंत्री के साथ 30 हजार लोगों ने एक साथ बैठकर योगासन किया था।

राजधानी भी आज योगमय नजर आई। दिल्ली नगर पालिका परिषद, और आयुष मंत्रालय की ओर से कनॉट प्लेस,लोधी गार्डन,नेहरू पार्क और तालकटोरा गार्डन समेत कई स्थानों पर योग सत्र आयोजित किए गए ।

इनमें पंतजलि योग समिति, आर्ट ऑफ लिविंग  तथा विवेकानंद योगाश्रम अस्पताल के लोग सहयोग कर रहे हैं। कनॉट प्लेस में दस हजार से ज्यादा लोगों के योग शिविर में हिस्सा लिया । लोगों की इतनी भारी संख्या को देखते हुए इस क्षेत्र में सुबह साढे ज्ञारह बजे तक यातायात प्रतिबंधित है। इस दौरान सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए ।

संयुक्त राष्ट्र में मुख्य योग सत्र कार्यक्रम का आयोजन संयुक्त राष्ट्र में इंडिया के राजदूत अकबरूद्दीन की अगुवाई में किया गया। चीन में योग को लेकर लोगों में जोरदार दीवानगी देखी गई और वहां चीन की विशाल दीवार पर योग सत्र का आयोजन हुआ।