पेयजल व्यवस्था के कार्य सर्वोच्च प्राथमिकता से हो


ग्वालियर : अल्प वर्षा के कारण ग्वालियर में पानी की कमी को देखते हुए ककैटो और पहसारी डैम से तिघरा जलाशय में पानी पम्प कर लोगों को पेयजल उपलब्ध कराया जा रहा है। जल संसाधन विभाग के अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि पम्पिंग का कार्य किसी भी हाल में बाधित न हो।

पम्पिंग कार्य में लापरवाही पाए जाने पर संबंधित ठेकेदार के विरूद्ध दण्डात्मक कार्रवाई प्रस्तावित की जाए। उक्त निर्देश संभागीय आयुक्त बी एम शर्मा ने मोतीमहल के मानसभागार में ग्वालियर की पेयजल व्यवस्था की समीक्षा बैठक में दिए।

संभागीय आयुक्त बी एम शर्मा ने ग्वालियर की पेयजल व्यवस्था के सुचारू क्रियान्वयन के लिए आयोजित इस बैठक में कलेक्टर श्री राहुल जैन, नगर निगम आयुक्त विनोद शर्मा, विशेष क्षेत्र विकास प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालन अधिकारी तरूण भटनागर, कार्यपालन यंत्री राजेश चतुर्वेदी, नगर निगम के अधीक्षण यंत्री श्री आर एल एस मौर्य, संभागीय उपायुक्त विनोद भार्गव सहित नगर निगम एवं जल संसाधन विभाग के विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

संभागीय आयुक्त बी एम शर्मा ने समीक्षा के दौरान निर्देशित किया कि पहसारी से तिघरा पम्पिंग कर लाए जा रहे पानी के कार्य को सर्वोच्च प्राथमिकता दी जाए। पम्पिंग का कार्य एक दिन भी बाधित न हो, यह जल संसाधन विभाग के अधिकारी सुनिश्चित करें।

पम्पिंग कार्य में ठेकेदार द्वारा लापरवाही बरती जाए तो ठेकेदार के विरूद्ध दण्डात्मक कार्रवाई का प्रस्ताव विभाग तत्काल प्रस्तुत करे।उन्होंने यह भी निर्देशित किया कि जल संसाधन विभाग के अधिकारी अपने स्तर पर भी यह तैयारी रखें कि आवश्यकता पड़ने पर विभागीय स्तर से पम्पिंग का कार्य किया जा सके।

संभागीय आयुक्त श्री बी एम शर्मा ने कलेक्टर श्री राहुल जैन एवं नगर निगम आयुक्त श्री विनोद शर्मा को निर्देशित किया कि पहसारी पर पम्पिंग स्थल पर पर्याप्त सुरक्षा व्यवस्था भी सुनिश्चित की जाए। पम्प किए जा रहे पानी का विभाग पूरा हिसाब भी रखे। पहसारी से पम्प किया जा रहा पानी कितना तिघरा जलाशय में पहुँच रहा है, इसका भी विभाग प्रतिदिन का हिसाब संधारित करे। दोनों डैमों के लेवलिंग की फोटोग्राफी भी कराई जाए।

देश की हर छोटी-बड़ी खबर जानने के लिए पड़े पंजाब केसरी अख़बार