जिनके राज में दलितों के दर्जनों नरसंहार हुए, आज घड़ियाली आंसू बहा रहे : सुशील मोदी


sushil-modi

पटना : दलित सेना की ओर से बापू भवन सभागार में आयोजित बाबा साहब डॉ भीम राव अम्बेडकर जयंती समारोह को संबोधित करते हुए कहा की जब तक केंद्र में नरेंद्र मोदी की और बिहार में नीतीश कुमार व भाजपा की सरकार है एस सी/एस टी के साथ कभी अन्याय नहीं होगा। संविधान प्रदत्त आरक्षण और एस सी/एस टी एक्ट पूरी मजबूती के साथ लागू रहेगा।

श्री मोदी ने 15 वर्षों तक बिहार में राज करने वाले राजद पर दलितों के मुद्दे पर घड़ियाली आंसू बहाने का आरोप लगाते हुए सवाल किया कि किनके राज में लाइन में खड़ा कर दलितों की हत्या कर दी जाती थी? लक्ष्मणपुर बाथे में 58, पटना के हैबसपुर में 10, शंकर बीघा में 23, नारायणपुर में 11 और मियांपुर में 35 दलितों का नरसंहार किसके राज में हुआ? जब से नीतीश कुमार व भाजपा की सरकार आई, क्या एक भी दलित मारा गया?

जब बिहार में हम लोगों को काम करने का मौका मिला तो पंचायत चुनाव में जो आरक्षण खत्म कर दिया गया था उसे लागू किया, रविदास समाज की हज़ारों महिलाओं को ममता दीदी के तौर पर बहाल किया, अनुसूचित जाति के लोगों को टोला सेवक नियुक्त किया, प्रोमोशन  और बिहार की न्यायिक सेवा में  आरक्षण लागू किया।

आरक्षण अम्बेडकर और गांधी की देन हैं। इसे कोई ताकत खत्म नहीं कर सकती है। अनुसूचित जाति/जनजाति अत्याचार निवारण कानून 1989 में उस बी पी सिंह की सरकार ने बनाई, जिसमें भाजपा भी शामिल थी। इस कानून को 2015 ने नरेंद्र मोदी की सरकार ने और मजबूत बनाया। आरक्षण और एस सी/एस टी एक्ट दो ऐसे हथियार हैं, जो दलितों को ताकत देता है, इसे कोई खत्म नहीं कर सकता है।

 देश और दुनिया का हाल जानने के लिए जुड़े रहे पंजाब केसरी के साथ