केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने रोजाना बढ़ते पेट्रोल-डीजल के दामों को लेकर एक ऐसा बयान दिया है जो सुर्खियां बन गया है।, जिसमें उन्होंने कहा था कि पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों से उन्हें कोई परेशानी नहीं हैं क्योंकि वह एक मंत्री हैं। बता दें कि शनिवार को अपने एक बयान में आठवले ने हल्के फुल्के अंदाज में कहा था,मैं पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों से परेशान नहीं हूं क्योंकि मैं मंत्री हूं। मेरा मंत्री पद जाएगा तो मैं परेशान हो जाऊंगा लेकिन जनता परेशान है। इसे समझ सकते हैं और कीमतें कम करने का दायित्व सरकार का है।’

केंद्रीय मंत्री के इस बयान पर लोगों की तीखी प्रतिक्रियाएं सामने आई थीं। खासकर सोशल मीडिया पर लोगों ने आठवले के इस बयान की खूब आलोचना की। तेल की कीमतों में लगातार इजाफे के बीच अपने इस बयान को लेकर घिरे आठवले ने अब माफी मांगी है। रविवार को अपने बयान पर माफी मांगते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘यदि इससे लोगों की भावनाएं आहत हुई हैं तो मैं माफी चाहता हूं।

किसी को आहत करने का मेरा इरादा नहीं था। मैं एक आम आदमी हूं जो कि मंत्री बना है। मैं आम लोगों की दिक्कतें समझ सकता हूं। मैं सरकार का हिस्सा हूं और कीमतें कम करने की मांग करता हूं।’ केंद्रीय मंत्री ने अपनी सफाई में कहा, ‘मुझसे पत्रकारों ने पूछा था कि पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ रहे हैं, क्या मुझे इससे कोई दिक्कत है। मैंने कहा था कि मुझे कोई दिक्कत नहीं है क्योंकि हमें चलने के लिए सरकारी गाड़ी दी जाती है। पर, लोगों को दिक्कतें हो रही हैं और कीमत कम होनी चाहिए। मैंने किसी को अपमानित करने के लिए ऐसा नहीं कहा।’