विश्व की सबसे छोटी एशेज ट्राफी को, लॉडर्स के एमसीसी म्यूजियम में रखने का आग्रह


ikbaal

राजस्थान के उदयपुर में अन्तर्राष्ट्रीय सूक्ष्तम स्वर्ण कलाकृतियों के शिल्पकार इकबाल सक्का ने उनके द्वारा बनाई विश्व की सबसे छोटी सोने की एशेज ट्रॉफी को भी लॉडर्स के एमसीसी म्यूजियम में रखने का आग्रह किया हैं। सक्का ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द, प्रधानमंत्री नरेंद्र , मोदी, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज एवं खेल मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड को भेजे पत्र में यह आग्रह किया हैं।

गौरतलब है कि सक्का ने 135 वर्ष पुराना एशेज सीरीज का सबसे छोटी होने का विश्व रिकार्ड तोडते हुये 50 गुणा छोटी सूक्ष्मदर्शी लेन्स से देखे जाने वाली सिर्फ तीन मिलीमीटर ऊंचाई एवं 100 मिलीग्राम सोने में सात दिन के अधिक प्रयास से हूबहू एशेज सीरीज ट्रॉफी की रिप्लिका बनाकर एक नया इतिहास रच डाला हैं।

सक्का ने बताया कि इंग्लैंड और आस्ट्रेलिया के बीच चल रही क्रिकेट की दुनिया की सबसे पुरानी 135 वर्ष से चली आ रही 70वीं ऐशेज सीरीज की ट्राफी जो विश्व की सबसे छोटी ट्रॉफी के रुप में विश्व विख्यात हैं जिसको हासिल करने के लिए इंग्लैंड एवं आस्ट्रेलिया के बीच एशेज सीरीज का महायुद्ध चल रहा हैं।

इसकी ऊंचाई 15 सेंटीमीटर है जिसको विश्व की सबसे छोटी एशेज क्रिकेट सीरीज की ट्राफी मानी जाती है। सक्का ने बताया कि आज भी यह एशेज सीरीज ट्राफी लॉडर्स के एमसीसी म्यूजियम में रखी हुई हैं। सीरीज जीतने वाली टीमों को उस ट्राफी की रिप्लिका थमाई जाती हैं। सक्का चाहते हैं कि उनके द्वारा बनाई विश्व की सबसे छोटी सोने की एशेज ट्रॉफी को भी लॉडर्स के एमसीसी म्यूजियम में भारत सरकार द्वारा रखी जाए।

लेटेस्ट खबरों के लिए यहां क्लिक करें।