महिला की मौत के बाद परिजनों ने जमकर काटा हंगामा


एटा: शराब के आरोप में पुलिस द्वारा पकड़े गये बेटे से मिलने जा रही महिला की नीलगाय से बाइक टकरा जाने के कारण मौत हो गई। मौत के बाद आक्रोशित हुये परिजनों ने निधौली कलां थाने में शव को 6 घंटा रखकर जमकर हंगामा काटा। इस दौरान परिजनों ने पुलिस पर महिला को धक्का मारने का आरोप लगाया। हंगामे की खबर सुन थाने पहंुचे एसडीएम जलेसर और पुलिस उपाधीक्षक के समझाने बुझाने और जांच कर कार्रवाई का आश्वासन देने के बाद मामला शांत हुआ। अंत में पुलिस ने शव को कब्जे में करने के पश्चात पंचनामा की औपचारिकता पूर्ण करते हुये पोस्टमार्टम गृह भेज दिया। जनपद हाथरस के सिकंदराराऊ थाना क्षेत्र के ग्राम राजपुर निवासी हरपाल सिंह के पुत्र वीकेश कुमार को निधौली कलां थाना के एसआई राजेश कुमार ने नगला भूड़ के पास से एक कट्टी में 20 लीटर केन में शराब ले जाते समय 17 जुलाई को बंदी बनाया था।

उसकी मां मुन्नीदेवी 18 जुलाई, 2017 को अपने पुत्र से मिलने निधौली थाने आ रही थी, निधौली कलां के नगरिया मार्ग पर अचानक रोड़ पर नीलगाय आ जाने से बाइक टकरा गई और महिला घायल हो गई। उसको जिला चिकित्सालय में दाखिल कराया गया, डाक्टर ने प्राथमिक उपचार देने के पश्चात अन्यंत्र रेफर कर दी। उपचार हेतु आगरा जाते समय रास्ते में उसकी मौत होगी। वहीं परिजनों का आरोप है कि निधौलीकलां थानाध्यक्ष शेर सिंह ने मुन्नीदेवी को धक्का मार दिया था, गिरने उसको चोट लगी। जिससे उसकी मौत हुई है। मौत के बाद गुस्साए लोगों ने महिला के शव को थाने में 6 घंटा रखकर 19 जुलाई को जमकर हंगामा काटा। सूचना पर पहंुचे जलेसर के एसडीएम विजय कुमार, क्षेत्राधिकारी एमपी सलौनिया ने आक्रोशित लोगों को समझा बुझाकर शांत किया। पुलिस ने शव को कब्जे में कर कानूनी कार्रवाई की है।

– अजय चौहान