योगी के हस्तक्षेप के बाद आंदोलन खत्म कर स्कूलों में पढ़ाने पहुंचे शिक्षामित्र


उत्तर प्रदेश में पिछले एक सप्ताह से आंदोलन कर रहे शिक्षामित्र बुधवार को स्कूलों में पहुंचे। जिन स्कूलों में अभी तक ताले लटके हुए थे, वहां आज सुबह से चहल-पहल थी, बच्चे भी स्कूल पहुंचे और पढ़ाई शुरू हो गई। सुप्रीम कोर्ट से समायोजन रद होने के बाद से ही प्रदेश में शिक्षामित्र आंदोलन पर थे। मंत्री, सांसदों, विधायकों का आवास घेरने के साथ ही इन लोगों ने प्रदेश के सभी जिलों में हाईवे पर चक्का जाम किया था।

Source

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को शिक्षामित्रों के एक प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात की थी। इसके बाद उतार प्रदेश के शिक्षा मित्रों ने बुधवार से स्कूलों में पठन-पाठन बहाल करने का ऐलान किया था। इसके साथ ही शिक्षा मित्रों ने बीते एक हफ्ते से चल रहा आंदोलन स्थगित हो गया था।

प्रतिनिधिमंडल ने सीएम से शिक्षामित्रों के समायोजन को लेकर सदन में नया आधिनियम पारित करने, जब तक शिक्षा मित्र टीईटी न पास करे तब तक वेतन की धनराशि मानदेय के रूप में दिए जाने, प्रदर्शन के दौरान मरे या आत्यहत्या करने वाले शिक्षा मित्रों के परिवारों को मुआवजा दिए जाने की मांग भी रखी।

शिक्षामित्र अनुभव के आधार पर प्रतिवर्ष सात अंक के भारांक की मांग भी कर रहे हैं। हालांकि शिक्षा मित्रों ने ऐलान किया है कि यदि दो हफ्ते भीतर समाधान नहीं निकला तो वे फिर सड़कों पर उतरेंगे। वहीं, बेसिक शिक्षा मंत्री अनुपमा जायसवाल ने कहा कि मुख्यमंत्री शिक्षमित्रों के प्रति संवेदनशील हैं। उनकी समस्याओं पर गंभीरतापूर्वक विचार किया जा रहा है, लेकिन इससे पहले शिक्षामित्र स्कूलों में जाकर पढ़ाए।