लूटपाट के बाद शिक्षक की हत्या, आक्रोशित शिक्षकों ने लगाया जाम


कासगंज/गंजडुंडवारा: ब्लाक गंजडुंडवारा के ग्राम नगला डामर में शुक्रवार की रात्रि को आधा दर्जन बदमाशों ने शिक्षक के घर में जमकर लूटपाट की। वहीं पहचाने जाने के डर से शिक्षक की हत्या कर दी। शिक्षक के भाई ने थाना सिंकदरपुर वैश्य मे अज्ञात बदमाशों के खिलाफ तहरीर दी है। पुलिस ने तहरीर के आधार पर मामला दर्ज कर शिक्षक के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजकर हत्यारों की तलाश में जुट गई है। प्राप्त विवरण के अनुसार शुक्रवार की मध्य रात्रि को आधा दर्जन से अधिक बदमाश नगला डामर के शिक्षक सुनील चैहान पुत्र रतन सिंह के घर में घुस गए। शिक्षक के 6 माह के मासूम मयंक को तमंचे की नोक पर कब्जे में कर घर मे दो घंटे तक लूटपाट करतेे रहे। बदमाशों ने शिक्षक की पत्नी को कमरे में बंद कर दिया। लूटपाट करते समय किसी तरह एक बदमाश का नकाब खुल गया। पहचाने जाने के भय से बदमाषों ने 36 वर्षीय शिक्षक सुनील चैहान को भी जमीन पर गिरा लिया और लोहे की मोटी छड़ से गला दबा कर हत्या कर दी।

लूटपाट के बाद शिक्षक की पत्नी ने शोर मचा कर ग्रामीणों को घटना की जानकारी दी। जिस पर किसी ग्रामीण ने डायल 100 पर फांेन कर दिया। जिस पर डायल 100 की गाड़ी घटना स्थल पर पहंुच गयी। इसके बाद इलाका पुलिस भी मौके पर पहुंची। घटना की खबर फैलते ही प्राथमिक शिक्षक संघ भी मौके पर पहुंच गया। संघ के अध्यक्ष डा अवनीष यादव के नेतृत्व में शिक्षकों व आक्रोेशित ग्रामीणों ने नगरिया मोड़ पर जाम लगा दिया। शिक्षक संघ ने शिक्षक मृतक आश्रित कोटे में पत्नी को नौकरी व 20 लाख का मुआवजा व अभियुक्तों की शीघ्र गिरफ्तारी की मांग करने लगे। एसडीएम पटियाली देवेन्द्र प्रताप व सीओ कर्मवीर सिंह के अश्वासन पर दो घंटे बाद जाम खुलवाया जा सका। पुलिस ने शिक्षक के भाई की तहरीर के आधार पर मामला दर्ज कर कार्रवाई प्रारंभ कर दी है।