पॉलीथिन के खिलाफ फिर सक्रिय जिला प्रशासन


बुलन्दशहर: बुलन्दशहर मेंएक बार फिर पाली थीन के खिलाफ जिला प्रशासन सख्त हुआ है। लेकिन यह असर कितना कारागार रहेगा यह तो आने वाला वक्त ही बना ऐगा। क्योंकि कैरी बैग पर तोजिला प्रशासन रोक लगा सकता है। लेकिन जोसामान पालीथीन की पैकिंग मेंही आ रहा है उसको जिला प्रशासन कैसे रोकेगा। दुकानदारों के अधिकांश सामान पर पालीथीन की पैकिंग होती है। बनियान आदि हौजरी का सामान, आटोमोबाईल, नई कार, नऐ सामान, दूध, ब्रेड, पान के मसाले, पानी की बोतलें, काला पानी, पीला पानी आदि रंगीन पानी की बोतलें पेटियों की जगह अब पालीथीन मेंही पैक होकर आती है। जबकि सब्जी मण्डी मेंभी सब्जियां पालीथीन के बैगों में ही पैक होकर बिक रही है। ऐसेमें जिला प्रशासन कितना कामयाब होगा।

इसके बावजूद गुरूवार को सुबह जिला अधिकारी डा रोशन जैकब ने बुलन्दशहर विकास प्राधिकरण की अध्यक्षता में प्राधिकरण के सभागार में आयोजित जिला स्तरीय पर्यावरण समिति/प्रदूषण एवं पॉलिथीन बैन के संबंध में बैठक में उपस्थित संबंधित विभागों के अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि सर्वप्रथम जनपद में पॉलिथीन के प्रयोग पर प्रभावी रूप से बैन लगाया जाये। उन्होंने समस्त अधिशासी अधिकारी नगर पालिका को निर्देशित करते हुए कहा कि वह अपने-अपने क्षेत्रों में जागरूकता अभियान चलाकर और उसे होने वाले दुष्प्रभावों को नागरिकों को अवगत करायें तथा साथ ही प्रचार-प्रसार के लिए होर्डिंग, पम्पलेट, स्लोगन आदि के माध्यम से जन जागरूकता अभियान चलाकर स्थानीय स्तर पर व्यापार मण्डलों का सहयोग प्राप्त करते हुए पॉलिथीन पर पूर्णतः रोक लगायी जाये।

उन्होंने वाणिज्य कर अधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि वह जनपद में पॉलिथीन के निर्माण एवं आपूर्ति करनी वाली फर्मो की सूची 2 दिन के अन्दर अपर जिलाधिकारी प्रशासन को उपलब्ध करायें। उन्होंने कहा कि नगर पालिकायें इस कार्य में सक्रिय भागीदारी सुनिश्चित करें। उन्होंने नगर पालिकाओं द्वारा कूड़ा प्रबन्धन की समस्या के संबंध में कहा कि इनके लिए यह कार्य एक चुनौतिपूर्ण कार्य है। उन्होंने ईओ नगर पालिकाओं निर्देशित करते हुए कहा कि पॉलिथीन के विरूद्ध यह अभियान मात्र कागजी कार्यवाही तक ही सीमित न रहे बल्कि धरातल पर भी दिखायी देना चाहिए।