अपात्रों को न मिले राशन कार्ड का लाभ


झांसी: उत्तर प्रदेश शासन के मुख्य सचिव ने वीडियो कांफ्रेंसिंग जरिये मंडलायुक्त, जिलाधिकारी व खाद्य एवं रसद विभाग के अधिकारियों को राशनकार्डों का सत्यापन अति संवेदनशीलता से करने के निर्देश दिये। वहीं उन्होंने योजनाओं के क्रियान्वयन की भी समीक्षा की। मुख्य सचिव ने कहा कि राशन कार्ड का सत्यापन ठीक से किया जाए। अपात्र किसी भी दशा में लाभ न ले सकें। पात्र लाभ लेने से वंचित न रह जाएं। वहीं लाभार्थियों का आधार कार्ड अनिवार्य रूप से लिंक किया जाये। जिनके पास अधार नहीं है वह लाभ नहीं ले पायेंगे। उन्होंने निर्देश दिया कि अनेक जनपदों में अभी तक पेट्रोल पंपों की जांच में गड़बड़ी होने के बाद भी एफआईआर दर्ज करने की कार्रवाई नहीं की गई। यह खेदजनक है,तत्काल कार्रवाई की जाए। मुख्य सचिव ने झांसी मंडल के कार्यों की सराहना की।

उन्होंने कहा कि सभी जनपद कार्य करने से पूर्व योजना तैयार कर लें ताकि जो कार्य किया जाए समय से हो सके। उन्होंने कहा कि प्रदेश में 6743 पेट्रोल पंप हैं। सभी जांच पूर्ण कर 194 केस प्राप्त हुए हैं। जहां जांच के दौरान चिप पाई गई है या अन्य कोई वस्तु साक्ष्य के रूप में प्राप्त है। परन्तु इन केसों मे आज तक एफआईआर दर्ज नहीं की गई।यह स्थिति संतोषजनक नहीं हैं। उन्होंने कहा कि उक्त प्रकरण की मानीटरिंग या उच्च न्यायालय द्वारा की जा रही है। 31 जुलाई को हाई कोर्ट में जवाब देना है। अत: प्रकरण लंबित नहीं रखें,जहां एफआईआर की जाए उसकी सूचना मुख्यालय को भी दें। खाद्य एवं रसद विभाग में आईजीआरस की शिकायतों को त्वरित निस्तारित करें। इस मौके पर एनआईसी में मंडलायुक्त अमित गुप्ता, जिलाधिकारी कर्ण सिंह चौहान, जिलापूर्ति अधिकारी अनूप तिवारी, डीआईओ दीपक सक्सेना अदि मौजूद रहे।

– एम.वसीम