कलश विसर्जन कर लौट रहे श्रद्धालुओं के साथ मारपीट


कासगंज: गंगा में कलश विसर्जन कर लौट रहे ट्रैक्टर ट्राली सवार श्रद्धालुओं से गोरहा पर मारपीट की गई। महिला श्रद्धालुओं के साथ बदतमीजी भी की गई। कई महिलाओं के मारपीट में जेवर भी गिर गए। आधा दर्जन श्रद्धालुओं को चोटें भी आई हैं। गुस्साए श्रद्धालुओं ने कासगंज में सोरों गेट पर जाम लगा दिया। जानकारी के बाद पहुंचे एसडीएम, सीओ, कोतवाल ने समझा-बुझाकर लोगों को हाइवे से हटाया और वाहनों का आवागमन शुरू कराया। घायलों को उपचार के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। आगरा के थाना बरहन क्षेत्र के मद्दगढ़ी निवासी श्रद्धालु ट्रैक्टर ट्राली में सवार होकर कलश विसर्जन के लिए गत बुधवार की सांय कछला गंगा घाट पर गए थे। रास्ते में बाइक सवारों से युवतियों से छींटाकसी पर विवाद हो गया था।

हालांकि कहासुनी के बाद सभी श्रद्धालु गंगा की ओर चले गए थे, गुरुवार को जब वह लौट रहे थे, तभी गोरहा पर बाइक सवार युवकों ने ट्रैक्टर ट्राली को घेर लिया और सवार सभी श्रद्धालुओं के साथ मारपीट शुरू कर दी। बीचबचाव को आईं महिला श्रद्धालुओं के साथ भी छींटाकसी और मारपीट की गई। जिससे कई महिलाओं के सोने चांदी के जेवरात भी टूटकर गिर गए। जैसे तैसे यहां से सभी श्रद्धालु कासगंज में आए और पुलिस को जानकारी दी। पुलिस की ओर से संतुष्टपूर्ण कार्रवाई न होने पर गुस्साए लोगों ने सोरों गेट पर हाइवे जाम कर प्रदर्शन शुरू कर दिया।

घटना की जानकारी मिलते ही एसडीएम भरत लाल सरोज, सीओ शैलेंद्र लाल, कोतवाल रिपुदमन सिंह सहित तमाम पुलिस के जवान के मौके पर पहंुच गए और लोगों को समझा बुझाकर जाम खुलवाया। साथ ही मारपीट मंें घायल हुए  प्रीती पुत्री भागीरथ, सपना पुत्री सुरेश, मनोज चैहान पुत्र योगेंद्र, योगेश, मोनेश पुत्रगण राघवेंद्र, धीरज पुत्र आशाराम को उपचार के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया। भाजपा जिलाध्यक्ष पूर्णेंद्र सोलंकी, भाजपा नेता रजनीकांत माहेश्वरी भी पहंुच गए और पीड़ितों से बातचीत की।