छोटा राजन गैंग का शूटर गिरफ्तार


इलाहाबाद: सिविल लाइंस पुलिस ने मुखविर खास की सूचना पर लगभग एक माह पूर्व कैरियर कोचिंग के संचालक पर जानलेवा हमला करने के आरोपी तथा 15,000 रूपये का इनामिया नीरज वाल्मीकि को लोको काम्प्लेक्स रेलवे स्टेशन सिंविल लाइन साइड से गिरफ्तार करके एक पिस्टल व चोरी की मोटरसाइकिल बरामद किया है। जबकि उसका साथी सैनिक कालोनी निवानी किशन भागने में सफल रहा। पूछताछ के दौरान कैण्ट थाना क्षेत्र के अफसर लाइन सर्वेन्ट क्वाटर निवासी नीरज ने बताया कि पहली बार मैं वर्ष 2005 में कैण्ट थाने से 2/25 शस्त्र अधिनियम के तहत गिरफ्तार हुआ तथा जेल गया था वहां से मेरी दोस्ती विष्णू रंजन गुप्ता से हो गयी तथा उसके जरिये कई शातिर अपराधियों से मेरी मुलाकात हुई।

सभी का मोबाइल नम्बर मिला जिनसे बात करके मैं मुम्बई गया, वहां पर छोटा राजन गैंग के शूटरों से मेरी मुलाकात हुई। इसी गैंग के कहने पर वर्ष 2006 में अहमद हुसैन ड्रग्स डीलर की हत्या की फिर गैंग द्वारा अजय घोषालिया को मारने की सुपारी मिली जिसको मारने की तैयारी में थे कि मुम्बई पुलिस द्वारा पकडा गया। फिर वहां से छूट कर मैं इलाहाबाद आ गया। विष्णु गुप्ता 2007 में डाक खाने लूट में मारा गया था। फिर वर्ष 2013 में कर्नलगंज में पिंकी गुप्ता की हत्या की बात बताई जिससे ईएनएस के ठेकेदार भयभीत होकर रंगदारी का पैसा दें। इसमें गवाही देने के कारण प्रताप सिंह को वर्ष 2016 में झूंसी में अपने साथियों शनि, शिवा, मंगल एवं राजू के साथ मार दिया इस मुकदमें में पुलिस द्वारा मेरे उपर 15,000 का इनाम भी घोषित है।