स्वच्छता एवं श्रमदान अभियान चलाया


इलाहाबाद : गंगा स्वच्छता में भागीदारी सर्वत्र मोक्ष प्राप्ति का सरल मार्ग है। भारत की जीवन रेखा कही जाने वाली मोक्षदायिनी गंगा को प्रदूषण से बचाने के लिए एकजुटता की आवश्यकता है। इसी दिशा में नगर निगम नगर के विभिन्न संस्थाओं के साथ मिलकर प्रत्येक रविवार को गंगा तट के संगम नोज पर स्वच्छता एवं श्रमदान अभियान चलाकर गंगा के आसपास फैलायी जा रही बेसुमार गन्दगी, कूड़ा कचरा, कपड़े, मूर्तिया, झाड़-झंकाण, फूलमाला, पूजन सामग्री, आदि को हटाकर गंगा को प्रदूशण से मुक्त कराने का सतत् प्रयास किया जा रहा है।

अभियान के इसी कड़ी में नगर निगम, संस्था भगीरथ स्वच्छता संकल्प श्रमसंध, बुद्ध देव समाज सेवा कल्याण संस्थान आदि के कार्यकर्ताओं ने अभियान चलाकर बड़ी मात्रा में कूड़ा गन्दगी को सेफ जगह पर एकत्र करने का कार्य किया। पतितपाविनी गंगा तट के आसपास नागरिकों द्वारा फैलायी जा रही गन्दगी, कूड़ा-करकट, प्लास्टिक पालीथीन, कांच की बोतलें, कपड़े, जूट आदि अप्रयोज्य सामग्रियों से गंगा को मुक्त कराने और साफ-सुथरा स्वच्छ वातावरण प्रदान करने के लिए नगर निगम द्वारा महापौर अभिलाशा गुप्ता ‘नंदी’ एवं नगर आयुक्त हरिकेश चौरसिया के निर्देशन में स्वच्छता एवं जनजागरूकता अभियान चलाये जा रहे है।

पर्यावरण अभियन्ता राजीव कुमार राठी के नेतृत्व में सहायक परियोजना अधिकारी सुनील कुमार गुप्ता, सामाजिक कार्यकर्ता राजेन्द्र कुमार तिवारी ‘दुकान जी’ प्रचारक संदीप कुमार यादव की सहभागिता से गंगा संरक्षण एवं पॉलीथीन का प्रयोग रोकने एवं दुकानों पर डस्टबिन रखे जाने के साथ निकलने वाले अपशिश्ट सामग्रियों को एकत्र कर सफाई कर्मियों को देने अथवा निर्धारित स्थल पर रखें गयें कूड़ादानों में डालने हेतु जागरूकता फैलायी।

भगीरथ संस्था के मुख्य संयोजक आनन्द श्रीवास्तव, कैलाश चन्द्र श्रीवास्तव, विवेक शुक्ला, शिवकुमार यादव, राममणि शुक्ला, आर सी यादव, पप्पू नाटे, उदय नारायन त्रिपाठी, बुद्धदेव समाज सेवा कल्याण संस्थान के कार्यकर्ताओं सहित नगर निगम के सफाई कर्मियों ने बढ़चढ कर अभियान को सफल बनाने का प्रयास किया। संगम तट से बड़ी मात्रा में पॉलीथीन, फूल माला, कूड़ा, कचरा, कपड़ा आदि हानिकारक अपशिष्टों को निकाल कर एकत्र किया गया है जिसे नगर निगम की कूड़ा गाडिय़ों द्वारा उठाने की व्यवस्था की गयी है।

स्थानीयों से अपील की गयी की कूड़ा न फैलाये अपने आसपास डस्टबिन रखें और निर्धारित कूड़ादानों में कूड़ा डाले और प्रतिबन्धित प्लास्टिक की वस्तुओं का प्रयोग न करें। प्रत्येक रविवार को चलाये जा रहे अभियान के माध्यम से नगर निगम ने अपील किया कि इसी प्रकार सप्ताह के अन्य दिनों में अन्य स्वयंसेवी संगठनों द्वारा गंगा स्वच्छता हेतु टीम बनाकर अभियान को निरन्तरता बनाने में सहयोग करें।

नगर की अन्य स्वैच्छिक संस्थाओं को नगर निगम द्वारा जोडऩे एवं विशेषकर युवाओं की भागीदारी को बढाने का आह्नावन किया जा रहा है अभियान में अधिकाधिक संस्थाओं की भागीदारी हो सके और जीवनदायनी गंगा के अन्य घाटों को नवजीवन प्रदान कर गंगा को अविरल नर्मल स्वच्छ बनाने का प्रयास को सार्थक बनाया जा सके।