स्वीकृत कार्य पहले पूरा करें: डीएम


बुलन्दशहर: डा. रोशन जैकब जिलाधिकारी/उपाध्यक्ष बुलन्दशहर विकास प्राधिकरण द्वारा आज अपने पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत प्राधिकरण कार्यालय में प्राधिकरण संबंधित फरियादियों की समस्याओं को सुनते हुए उनका निस्तारण किया। इस मौके पर फरियादियों द्वारा आवंटित भवनों एवं भूखण्डों के भुगतान एवं मानचित्र संबंधी समस्याओं को प्रस्तुत किया गया। डा. रोशन जैकब ने नगर के सौन्दर्यीकरण पर अधिकारियों से चर्चा करते हुए कहा कि वलीपुरा की नहर की पटरी का सौन्दर्यीकरण किया जायें और पौधारोपण भी सुनिश्चित किया जायें। उन्होंने डीएवी फ्लाई ओवर के नीचे पार्किंग एवं पार्क विकसित करने के कार्य को 15 दिन के अन्दर पूर्ण करने के निर्देश संबंधित को दिये साथ ही वेंडिंग जोन के सौन्दर्यीकरण के आदेश भी संबंधित अभियन्ता को दिये। उनके द्वारा नगर के विकास पर भी चर्चा की गयी। उन्होंने नगर में प्राधिकरण द्वारा किये जा रहे निर्माण कार्यो की समीक्षा की।

इस मौके पर अपर जिलाधिकारी प्रशासन श्री अरविन्द कुमार मिश्र, विशेष कार्याधिकारी श्री इन्दु प्रकाश सिंह, खुर्जा विकास प्राधिकरण के सचिव श्री योगेन्द्र आर्य, मुख्य लेखाधिकारी श्री ए0पी0 वाजपेयी, टाउन प्लानर श्री महावीर सिंह सहित प्राधिकरण के सहायक एवं अवर अभियन्ता उपस्थित रहे। इसके अलावा कलैक्ट्रेट के सभागार में जनपद की समस्त नगर पालिकाओं के अधिशासी अधिकारियों की आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुए जिलाधिकारी डॉ0 रोशन जैकब ने नगरों में नाला सफाई, नगर की सफाई तथा चिन्हित डंपिंग ग्राउण्ड आदि की समीक्षा करते हुए उपस्थित अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि जिन पालिकाओं में डंपिंग ग्राउण्ड चिन्हित कर लिये हैं, नगर का कूड़ा चिन्हित किये गये डंपिंग ग्राउण्ड में ही निस्तारित किया जायें।

उन्होंने चिन्हित डंपिंग ग्राउण्ड की बाउन्ड्री वॉल बनाये जाने के निर्देश दिये। उन्होंने निर्माण कार्यो की समीक्षा करते हुए पालिका की जमीनों से अवैध कब्जे हटाये जानें की समीक्षा भी पालिकावार की। उन्होंने नगर के नालों की सफाई कार्य की समीक्षा करते हुए कहा कि साफ किये गये नालों का निरीक्षण पुनः एक बार कर लें। नाले व नालियों का निर्माण इस तरह से किया जायें कि इनमें पानी का बहाव ठीक हो। उन्होंने 14वें वित्त आयोग एवं अवस्थापना निधि से किये गये कार्यो की भी समीक्षा करते हुए कहा कि सर्वप्रथम स्वीकृत कार्यो को पूरा करें और इसके उपरान्त नए कार्यो के लिए प्रस्ताव प्रस्तुत किये जायें।

– अशोक शर्मा