कांग्रेसियों ने 10 रुपए किलो बेचा टमाटर


लखनऊ: स्टेट बैंक ऑफ टमाटर खोलने के बाद कांग्रेस नेताओं ने टमाटर की विधान सभा के सामने दुकान लगा दी। यहां केंद्र में बैठी मोदी सरकार के विरोध में 100 से 125 रुपये तक बिकने वाला टमाटर मात्र 10 रुपये प्रति किलो बेचा गया। जैसे ही लोगों को पता चला कि टमाटर दस रुपये में मिल रहा है वैसे ही खरीददारों का हुजूम उमड़ पड़ा। कुंतलों टमाटर जरा देर में छू मंतर हो गया। कांग्रेस नेता शैलेंद्र तविारी के कहा कि बढ़ती महंगाई को लेकर कांग्रेसियों ने सरकार के विरोध का यह तरीका है। उन्होंने ने कहा कि शुक्रवार सुबह विधानसभा के सामने टमाटर 10 रुपये किलो बेचा गया। उन्होंने कहा कि विरोध के चलते टमाटर के स्टॉल पर एक बैनर भी लगाया गया था। जिस पर लिखा है कि टमाटर के आये अच्छे दिन साथ ही बैनर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर भी लगी है।

उन्होंने कहा, पहले के जमाने में गरीब आदमी सिर्फ चटनी रोटी खाकर सो जाता था, अब उसकी चटनी-रोटी भी छिन गई है। अब गाय के और टमाटर के तो अच्छे दिन आ गए हैं लेकिन इंसानों के अच्छे दिन नहीं आएंगे। शैलेंद्र तिवारी ने कहा कि मुझे लगता है कि इंसान के अच्छे दिन नहीं आएंगे। इसी बात को लेकर ये सांकेतिक विरोध है। उन्होंने कहा कि गरीबों के लिए ऐसी दुकानें खोलनी चाहिए ताकि उनकी चटनी रोटी न छिने, इस बारे में सरकार को सोचने की जरूरत है। शैलेंद्र तिवारी ने विरोध करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार महंगाई पर काबू पाने में विफल साबित हुई है। मोदी सरकार न तो रोजगार दे पा रही है और न ही उद्योग धंधों के पनपने के लिए कारगर कदम उठा पा रही है। भाजपा सरकार में हाल ये हो गया कि पेट्रोल से मंहगा टमाटर हो गया।