जौनपुर में अदालत ने बलात्कार के आरोपी को 10 वर्ष की सजा


जौनपुर: उत्तर प्रदेश में जौनपुर जिले की एक अदालत ने बलात्कार के आरोपी को दस वर्ष के कारावास के साथ 18 हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनायी है। अभियोजन पक्ष के अनुसार मछलीशहर क्षेत्र के एक गांव निवासी वादी ने दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 156(3) के तहत न्यायालय में प्रार्थना पत्र दिया था कि दस मई 2008 को भोर में उसकी गांव के बाहर गयी थी और तभी अली हसन उर्फ गुड्डू, जमीला, विशेष गुप्ता और श्रवण कुमार ने उसका अपहरण कर लिया और उसके साथ बलात्कार किया।

आरोपियों के खिलाफ पहले से चल रहे एक मुकदमे के सिलसिले में उन लोगों ने एक जून 2008 को वादी को धमकाते हुए कहा कि सुलह कर लो तो तुम्हारी लड़की वापस आ जाएगी नहीं तो उसकी हत्या कर दी जाएगी। इस बात की सूचना पहले उसने पुलिस को दी लेकिन कोई कार्रवाई नहीं होने पर उसने न्यायालय का दरवाजा खटखटाया।

न्यायालय के आदेश पर पुलिस ने चारों आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर न्यायालय में आरोप पत्र दाखिल किया। इस मुकदमें की सुनवाई करते हुए आज अपर सत्र न्यायाधीश एफ टी सी प्रथम बलराज सिंह ने साक्ष्यों और गवाहों के आधार पर आरोपी अली हसन उर्फ गुड्डू को अपहरण और दुष्कर्म के मामले में दोषी पाते हुए उसे दस वर्ष के कारावास और 18 हजार रुपये के जुर्माने की सजा सुनायी। अदालत ने अन्य तीनों आरोपियों को साक्ष्य के अभाव में बरी कर दिया।