भाकियू का शुगर मिल के विरुद्ध प्रदर्शन


सिंभावली: सिंभावल शुगर मिल द्वारा फर्जीवाड़ा कर क्षेत्र के किसानों के नाम पर पांच सौ रूपये का ऋण लेने के विरोध में भाकियू भानु गुट के कार्यकर्ताओं ने मिल के विरुद्ध प्रदर्शन किया और शुगर मिल मालिकों व अधिकारियों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर कार्यवाही किये जाने की मांग की है। गढ़मुक्तेश्वर के सिंभावली शुगर मिल द्वारा बैंक अधिकारियों से सांठगांठ कर फर्जीवाड़ा करते हुए क्षेत्र के किसानों के नाम पर अवैध रूप से पांच सौ करोड़ रूपये का ऋण ले लिया। सिंभावली मिल द्वारा किसानों के नाम पर लोन लिये जाने की सूचना पर भारतीय किसान यूनियन भानु गुट के कार्यकर्ताओं ने रोष व्याप्त हो गया और अधिकारियों द्वारा मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई करने की मांग को लेकर धरना प्रदर्शन किया।

राष्ट्रीय राजमार्ग किनारे स्थित गन्ना समिति में बुधवार को आयोजित हुए धरना-प्रदर्शन में संगठन के जिलाध्यक्ष पवन हूण ने कहा कि सिंभावली चीनी मिल द्वारा क्षेत्र के किसानों के नाम पर अवैध रूप से लोन ले लिया। किसानों को इस बात की जानकारी तब हुई जब सरकार द्वारा किसानों के कर्जमाफी के नाम आने पर गांव का लेखपाल किसानों के पास गया। अपने नाम पर बिना लिये लोन दिखाये जाने पर किसान परेशान हो गये और उन्होंने जानकारी की तो मिल द्वारा लोन लेने की बात सामने आयी। उन्होंने कहा कि मिल अधिकारियों ने किसानों का शोषण किया है इसलिए मिल अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए मुकदमा दर्ज किया जायेे। साथ ही सरकार द्वारा माफ किये जाने वाले कर्ज को किसान द्वारा लिये गये कर्ज को ही माफ किया जाना चाहिए।

गन्ना समिति में चल रहे धरने में पहुंचे मिल अधिकारी अमानुल्ला ने कहा कि मिल द्वारा जो लोन लिया गया है कि उसको मिल स्वयं ही देगी। किसान का उस लोन से कोई मतलब नहीं होगा। भाकियू भानु गुट के कार्यकर्ताओं ने मिल के खिलाफ एक मांग पत्र तहसीलदार अजय उपाध्याय को सौंपकर कार्रवाई करने की मांग की। इस अवसर पर अमित त्यागी, विरेन्द्र त्यागी, योगेश त्यागी, राम कुमार आर्य, शिवराज प्रधान, जयकरण सिंह, ओमवीर सिंह, लीले सिंह आदि दर्जनों कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

– नुसरत अब्बासी