उप गन्नाआयुक्त ने की गन्ना समिति के घोटालों की जांच


शामली : लखनऊ से आए उप गन्ना आयुक्त संजय गुप्ता ने सहकारी गन्ना विकास समिति के पूर्व सचिव पर लगे भ्रष्टाचार, अनपेड भुगतान के दोषियों को बचाने तथा रिकार्ड गायब करने के आरोपों की जांच की। इस दौरान उन्होंने कर्मचारियों एवं किसानों के बयान भी दर्ज किए।  गत 4 जनवरी को भाकियू कार्यकर्ता अजय पंवार ने गन्ना विकास आयुक्त एवं चीनी उद्योग आयुक्त लखनऊ विपिन कुमार द्विवेदी को सहकारी गन्ना विकास शामली के तत्कालीन सचिव सुभाष चंद यादव पर उनके कार्यकाल में भ्रष्टाचार तथा अनपेड भुगतान के दोषियों के बचाने के आरोप लगाए थे।

साथ ही, अजय पंवार ने पूर्व सचिव पर रिकार्ड गायब करने तथा किसानों का शोषण किए जाने का आरोप लगाया था। भाकियू कार्यकर्ता की शिकायत के बाद सचिव सुभाष चंद गुप्ता को शामली से हटाकर लखनऊ मुख्यालय अटैच कर दिया गया था।  गन्ना आयुक्त विपिन कुमार द्विवेदी ने मामले की जांच उप गन्ना आयुक्त संजय गुप्ता को सौंपी थी। मंगलवार को उप गन्ना आयुक्त संजय गुप्ता दो दिवसीय जांच के लिए शामली गन्ना समिति पहुंचे थे।

इन दो दिनों में उन्होंने शिकायतकर्ता, समिति कर्मचारियों तथा किसानों से बातचीत कर बयान दर्ज किए। उन्होंने समिति सचिव कार्यालय से हटाई गई दीवार तथा पत्रावलियों की जांच की। जांच अधिकारी उप गन्ना आयुक्त लखनऊ संजय गुप्ता ने बताया कि सचिव पर लगे आरोपों की बिंदुवार जांच रिपोर्ट तैयार कर ली गई है जो गन्ना आयुक्त लखनऊ को सौंपी जाएगी। इस दौरान जिला गन्ना अधिकारी एके भारती, जांच समिति के राजीव चचौधरी अमित कुमार आदि उपस्थित रहे।

– (दीपक वर्मा)