विभिन्न मांगों को लेकर जलकल कर्मियों का प्रदर्शन


इलाहाबाद: जलकल विभाग खुशरूबाग के मेन गेट पर कर्मचारियों ने अपनी मांगों तथा भ्रष्टाचार मामले को लेकर ताला जड़ दिया और जमकर धरना-प्रदर्शन किया। इस दौरान जलकल विभाग के समस्त कार्यालय जलापूर्ति को छोड़कर बंद रहे। राम आसरे यादव की अध्यक्षता में आयोजित प्रदर्शन में वक्ताओं ने कर्मचारियो की मांगों में सेवानिवृत्त कर्मचारियों की ग्रेच्युटी, नगदीकरण, ठेके के कर्मचारियों के 15 माह का वेतन भुगतान, रिक्त पदों पर पदोन्नति, जीवन बीमा पालिसी, ठेके के कर्मचारियो को संविदा पर रखना, विभाग में सहायक लेखा अधिकारियो के रिक्त पदों पर वरिस्ठ लेखा लिपिकों से सहायक लेखा अधिकारी के पदों पर कार्य लिया जाना रहा।

इस अवसर पर कहा गया कि वर्तमान में कार्यवाहक महाप्रबंधक आरडीएस यादव एवं सहायक लेखा अधिकारी सुजीत कुमार की मिलीभगत से कार्यालय आदेश के विरुद्ध जाकर 12 लाख रुपये बाउचर न.32 चेक संख्या 979587 द्वारा 18 मई 2017 को बिना किसी जेई-एई की संस्तुति के कमीशन के चक्कर मे सीधे भुगतान कर दिया गया। जबकि कार्यालय आदेश में लिखित है कि बिना वास्तविकता के भुगतान ना किया जाय। वर्तमान महाप्रबंधक के रहते हुए भी तानाशाही के चलते चार्ज नही दिया जा रहा है। इनके द्वारा किये जा रहे भ्रष्टाचार की जांच उच्च स्तर से कराये जाने की मांग की गयी। इस दौरान जलकल कर्मचारी संघ के पदाधिकारी राम आसरे यादव, विनोद पटेल, दिलीप पासी, सन्तोष कुमार मेहरोत्रा, ऋषि राज सहित अन्य कई लोग उपस्थित रहे।