इलाहाबाद: जिलाधिकारी संजय कुमार सम्पूर्ण समाधान दिवस मेजा से चांदखमरिया तथा महुला गांव का निरीक्षण करने चले गये थे वहां से वापस आते समय कोहड़ार घाट के पुल से बालू खनन को देख रूक गये। उन्होंने देखा कि घाट पर बेतरतीब ढंग से बालू की खुदाई की जा रही है तथा नदी के बीच नाव से भी भारी मात्रा में बालू खोद कर लाया जा रहा है। इस दृश्य को देखकर जिलाधिकारी अपने हमराहियों के साथ पुल से नीचे उतर गये। जिलाधिकारी संजय कुमार तथा पुलिस वालों को देखकर अवैध खनन करने वाले नाव तथा ट्रैक्टर को लेकर भागने लगे तभी डीएम के सुरक्षा गार्डां ने उन्हें दौड़ाकर दबोच लिया। जिलाधिकारी संजय कुमार कोहड़ार पुलिस चौकी के नाक के नीचे अवैध खनन होने पर गहरी नाराजगी व्यक्त व्यक्त किये।

उन्होंने अवैध खनन पर कड़ी कार्रवाई करते हुए कोहड़ार पुलिस चौकी इंचार्ज समेत पूरी पुलिस चौकी के कर्मियों को निलम्बित कर दिया तथा सम्बन्धित थानाध्यक्ष तथा क्षेत्राधिकारी को कड़ी चेतावनी देते हुए कोहड़ार क्षेत्र में हो रहे अवैध बालू खनन पर दोषियों को जेल भेजने का निर्देश दिया। उन्होंने कोहड़ार क्षेत्र के खान निरीक्षक को निलम्बित करते हुए उप जिलाधिकारी करछना को कड़ी चेतावनी दिया। डीएम ने मौके पर पायी गई बालू, बोट तथा टै्रैक्टर को भी सीज कर दिया। डीएम ने कोहड़ार क्षेत्र का निरीक्षण कर देखा कि लगभग 10 किमी. दूरी में अवैध ढंग से खुदाई कर बालू को फैलाकर डम्प किया गया है। उन्होंने बालू के समस्त ढेर को सीज कर दिया।

जिला खनन अधिकारी ने बताया कि 10 किमी. क्षेत्र में फैली बालू की मार्केट कीमत लगभग पचास लाख रुपये है। जिलाधिकारी संजय कुमार ने अपर जिलाधिकारी प्रशासन महेन्द्र कुमार राय तथा जिला खान अधिकारी को मौके पर जाकर अवैध बालू को कब्जे में लेने का निर्देश दिया। डीएम ने प्रशासनिक तथा पुलिस अधिकारियों को सख्त हिदायत दिया है कि जिले में कहीं भी बालू की अवैध खनन न हो। उन्होंने अवैध खनन करने वाले दोषियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करते हुए दोषियों को जेल भेजने का निर्देश दिया।

(बाबी)