बाढ़ से बचाव की तैयारियों में किसी भी प्रकार की शिथिलता बर्दाश्त नहीं


लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि बाढ़ की स्थिति में प्रत्येक व्यक्ति के जीवन एवं खेती-बाड़ी की हिफाजत के लिए हर सम्भव कदम उठाए जाने चाहिए। उन्होंने कहा कि बाढ़ से प्रभावित होने वाले जनपदों के जिलाधिकारियों को, लोगों की जान-माल की हिफाजत के लिए स्थानीय आवश्यकता के दृष्टिगत पहल करने में हिचकिचाहट नहीं होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि इस मामले में धन की कमी कतई नहीं होनी दी जाएगी। मुख्यमंत्री ने योजना भवन में बाढ़ से बचाव की तैयारियों की उच्च स्तरीय समीक्षा कर रहे थे। इसमें बाढ़ की दृष्टि से 23 अतिसंवेदनशील व 17 संवेदनशील जनपदों के जिलाधिकारियों के अलावा, मौसम विभाग, केन्द्रीय जल आयोग, रिमोट सेन्सिंग एवं एनडीआरएफ के अधिकारी भी मौजूद थे। इन अधिकारियों ने अपने-अपने विभागों से सम्बन्धित तैयारियों एवं सूचनाओं से मुख्यमंत्री को अवगत कराया।

– असलम सिद्दीकी