UP में शिक्षामित्रों का बवाल स्कूल ठप


लखनऊ : सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद शिक्षक पद पर समायोजित शिक्षामित्र आज सड़क पर उतर आएं। पूरे प्रदेश भर में शिक्षामित्रों के भरोसे संचालित स्कूल बंद रहे। सभी जिलों में शिक्षामित्रों ने जुलूस निकाल कर अपना विरोध दर्ज किया। उन्होंने कहा कि इस फैसले के बाद में शिक्षामित्रों के सामने भुखमरी का संकट आ जाएगा। देवरिया जनपद मुख्यालय के सुभाष चौक पर शिक्षा मित्रों ने जाम कर प्रदर्शन शुरू कर दिया है। जगह-जगह पर शिक्षा मित्र जाम और प्रदर्शन कर रहें हैं। बरेली के गांधी उद्यान के सामने शिक्षामित्रों ने फैसले के विरोध में रोड जाम किया, इसके अलावा लोगों से अभद्रता की, बाइक सवारों से हाथापाई और एक बाइक को तोड़ डाला।

गोरखपुर में शिक्षामित्रों की भीड़ गोरखनाथ मंदिर पहुंच गई है  शिक्षामित्र सीएम योगी से नौकरी बचाने की मांग कर रहे हैं। भारी संख्या में भीड़ देखते हुए पुलिस ने मन्दिर का गेट बन्द कर शिक्षामित्रों को बाहर ही रोका दिया है। पुलिस शिक्षामित्रों के नेताओं को अलग ले जाकर बात कर रही है। प्रदेश में कई जगहों पर शिक्षा मित्रों का हंगामा जारी। इसी बीच कुछ महिला शिक्षामित्रों के बेहोश होने की खबर है। दरअसल, कल मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गोरखपुर आ रहे हैं और शिक्षा मित्र उनसे उम्मीद लगाकर बैठे हैं कि वे इस मामले पर उनके लिए कुछ करेंगे। अमरोहा में भी शिक्षा मित्र विरोध कर रहे हैं।

मामले को लेकर बुधवार की सुबह ही शिक्षकों का रेला टाउनहाल की ओर उमड़ पड़ा। सैकड़ों महिला व पुरुष समायोजित शिक्षामित्र शिशुमंदिर परिसर में इकट्ठा हो गए। गिट्टियों के ढेर पर मंच सज गया। मैदान में बिछे बालू पर शिक्षामित्र बैठ गए। इसमें फैसले से उपजी सरगर्मी साफ झलक रही थी। सभी शिक्षामित्र संगठन इसमें शामिल थे। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट का फैसला उलझन भरा है। लेकिन एक बात साफ है कि समायोजन रद्द हो गया है। अब हमें अपने अस्तित्व के लिए संघर्ष करना होगा।

इसके बाद शिक्षामित्रों ने सुभाष चौक पर पहुंच कर सड़क जाम कर दिया। पुलिस आंदोलन कारियों को समझाने का प्रयास कर रही है। जाम के कारण बडे़ वाहनों को रूट परिवर्तित करके चलाया जा रहा है। धरना प्रदर्शन कर रहे आक्रोशित शिक्षा मित्रों का आंदोलन उग्र हो गया। बुधवार को खलीलाबाद जूनियर हाईस्कूल परिसर में जुटे शिक्षामित्रों ने पहले डायट कार्यालय को बंद करा दिया। इसके बाद बीआरसी को बंद कराया। यहां से नारेबाजी करते सभी बीएसए कार्यालय पहुंचे।

शिक्षामित्रों का आक्रोश देख कर्मचारी ताला बंद कर किनारे हो गए। शिक्षामित्रों ने बीएसए कार्यालय में तोड़फोड़ कर एसी तोड़ डाला। लेखाधिकारी कार्यालय में भी तोड़फोड़ की। एमआईएस कक्ष के पीछे की खिड़की तोड़कर पेट्रोल डाल आग लगा दी। यहां से निकलकर हाइवे पर पहुंच जाम लगा दिया। पुलिस ने समझाने का प्रयास किया। पर शिक्षामित्र नहीं माने। मौके पर पहुँचे एसडीएम, सीओ, एएसपी शिक्षा मित्रों को मनाने में जुटे हैं

। मौके पर जाम लगा है सुप्रीम कोर्ट द्वारा शिक्षामित्रों का समायोजन रद्द किए जाने से आहत कुशीनगर के शिक्षामित्रों ने बुधवार को कलेक्ट्रेट पहुंच कर दो घंटे तक धरना दिया। इस दौरान शिक्षामित्रों ने शासन-प्रशासन विरोधी नारेबाजी भी की। शिक्षामित्रों के आक्रोश को देखते हुए कलेक्ट्रेट परिसर पुलिस छावनी में तब्दील हो गई थी। डीएम कार्यालय में एसपी यमुना प्रसाद व एएसपी हरिगोविंद मिश्र भी पहुंच गए थे।

आदर्श समायोजित शिक्षक शिक्षामित्र वेलफेयर एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष अखिलेश चतुर्वेदी के नेतृत्व में शिक्षामित्रों ने सरकार से आरटीई एक्ट में संशोधन कर शिक्षामित्रों को सहायक अध्यापक के पद पर स्थापित करने की मांग की। मौके पर पहुंचे एडीएम व एएसपी ने सीएम को संबोधित ज्ञापन लिया, जिसके बाद धरना समाप्त हुआ। डीएम आंद्रा वामसी ने कहा कि शिक्षा मित्रों की बात शासन तक पहुंचा दी जाएगी ।