शिक्षामित्रों ने राष्ट्रपति से इच्छा मृत्यु की लगाई गुहार


गाजियाबाद: सर्वोच्च न्यायालय द्वारा शिक्षा मित्रों का समायोजन रद्द किए जाने के फैसले को लेकर शुक्रवार को शिक्षा मित्रों ने कलेक्टे्रट पर प्रदर्शन कर मानव श्रृंखला बनाकर विरोध प्रकट करते हुए राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन में एडीएम सिटी प्रिती जायसवाल को सौंपा। जिसमें 530 शिक्षा मित्र (परिवार) समायोजित अध्यापक शिक्षा मित्रों को इच्छा मृत्यु की अनुमति देने की मांग की गई है। वहीं चेतावनी देते हुए शिक्षा मित्रों ने शनिवार को मेरठ मंडलभर के शिक्षा मित्रों के द्वारा प्रदेश के खाद्य मंत्री के आवास का घेराव किए जाने का ऐलान भी किया है। इस मौके पर संघ के प्रांतीय संयोजक अनुज त्यागी ने कहा कि उनके सामने अब आत्मघाती कदम उठाने के अलावा दूसरा कोई विकल्प नहीं रह गया है।

प्रदेश के करीब दो लाख शिक्षा मित्रों के सामने रोजी रोटी का संकट खड़ा हो गया है। शिक्षा मित्रों ने राष्ट्रपति के नाम संबोधित ज्ञापन जिलाधिकारी को सौंपा। आदर्श समायोजित शिक्षक, शिक्षा मित्र वेलफेयर एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष रिजवान ने पत्र के माध्यम से राज्य सरकार से अध्यापक सेवा नियमावली में अतिशीघ्र संशोधन कर सहायक अध्यापक पद पर शिक्षा मित्रों को वापस करने और निर्णय लेने तक समान कार्य समान वेतन तत्काल प्रभाव से लागू करने की मांग की गई। इस दौरान अमित चौधरी,लईक अहमद, रविंद्र राणा, मनोज डागर,मनोज त्यागी अनुज त्यागी आदि रहे।