जाल खींचते ही दंग रह गया मछुआरा, जाल फेंक कर भाग गया


सोमवार को गंगा नदी में एक कपल की डेडबॉडी मिली। बता दें कि मछुआरे रोज की तरह अपना काम करने के लिए नदी पर गए थे लेकिन जैसे ही मछुआरों ने जाल फेंका मछलियों को पकडऩे के लिए जैसे ही जाल फेंका तो जाल का वजन काफी हो गया था तो मछुआरे को लगा कि कोई बड़ी मछली आई है। जब जाल ऊपर की तरफ खींचा तो सारा मामला सामने आ गया था। बात है निकली की जाल में बड़ी मछली नहीं आई थी बल्कि एक कपल की बॉडी आर्ई थी। एक कपल ने अपने आपको दुपट्टे से बांधा हुआ था और उनकी डेडबॉडी जाल में फंस गई थी। मछुआरे ने जब यह सब देखा तो वह जाल को वापस नदी में फेंक कर भाग गया था।

लड़के की पॉकेट से मिला मोबाइल  जिले के भरौली थाना इंचार्ज उमा शंकर त्रिपाठी ने बताया, मछुआरा बड़ी मछली समझकर जाल खींच रहा था। उसने जैसे ही देखा कि कोई बॉडी है तो वो जाल छोड़कर भागते हुए ग्राम प्रधान के घर सूचना देने पहुंचा। गोताखोरों को बुलाकर डेडबॉडी बाहर निकलवाया गया। दोनों दुपट्टे से बंधे थे। लड़के के पॉकेट में बिना सिम का मोबाइल था। उसके मेमोरी कार्ड में एक शख्स का नंबर मिला है। जोकि गाजीपुर के भांवरकोल थाना क्षेत्र के मोबाइल शॉप का था।

पड़ोसी थे दोनों, 1 साल से था अफेयर भांवरकोल थाने में जाकर जब पुलिस ने दोनों की फोटो दिखाकर पूछताछ की, तो रीना और रामचंद्र नाम से शिनाख्त हुई।  रीना (18) के पिता का नाम बृजनाथ पासवान है और रामचंद्र (23) के पिता निर्मल राम दोनों यहीं के रहने वाले हैं। दोनों का घर सिर्फ 500 मीटर की दूरी पर था। लोगों ने बताया- रीना-रामचंद्र में 1 साल से अफेयर चल रहा था, जिसे परिवार के लोग जान गए थे। परिजनों के मुताबिक, दोनों 2 दिन पहले गायब हुए थे।

साथ मरने से कौन रोकेगा ?  लड़की के पिता बृजनाथ के मुताबिक, बेटी 2 दिनों से लापता थी, हम तलाश कर रहे थे। दूसरी तरफ, लड़के के पिता ने बताया, रीना को लेकर रविवार को घर पर काफी झगड़ा हुआ और नाराज होकर वो घर से निकल गया। यह कहकर गया था- ”साथ जी नहीं सके तो क्या हुआ, मरने से कौन रोक सकता है।”