अगवा कर छात्रा से गैंगरेप


सुलतानपुुर: शहंर के बस स्टेशन इलाके से स्कूल जा रही किशोरी छात्रा का अराजकतत्वों ने अपहरण कर गैंगरेप किया। कुकर्म करने के बाद गम्भीर रूप से जख्मी छात्रा को इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पिता ने रपट दर्ज करने के लिए नगर कोतवाली में तहरीर दी है। जानकारी के अनुसार बढैयावीर की खुशी (15) (काल्पनिक नाम) सोमवार को घर से स्कूल जाने के लिए निकली। खुशी शहर के एक कालेज में कक्षा सात में पढ़ती है। वह अभी आयकर विभाग के गली में पहुंची थी कि अराजकतत्वों ने उसका अपहरण कर लिया। अराजकतत्व उसे पांचोपीरन इलाके में ले गए और उसके साथ गैंगरेप किया। मुंह काला करने के बाद छात्रा को झाड़ी मे फेंक दिया गया। अपराहन करीब डेढ़ बजे आयकर दफ्तर के बगल की गली मे खुशी बेहोशी की हालत में पायी गयी।

आस पास के लोगों ने उसे पहचान लिया और घर वालों को सूचना दी। पीड़ित किशोरी को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पिता ने रपट दर्ज करने के लिए नगर कोतवाली में तहरीर दी है। पिता का कहना है कि खुशी ने बयान दिया है कि करौंदिया का राहुल और पांचोपीरन का सद्दाम उसे गली में छोड़कर गए। आशंका जताई है कि राहुल, सद्दाम या फिर अन्य लोगों ने उनकी लड़की के साथ गंदा काम किया है। हादसे के बाद से खुशी डरी सहमी और सदमे में है। हालाकि परिजनों का बार-बार बयान भी बदल रहा है। गौरतलब है कि इस वारदात से पहले जून महीनें मंे दो मासूम बच्चियों के साथ दुराचार से शहर में सनसनी फैली थी। आठ जून को गोलाघाट इलाके में डीएम आवास के चंद कदम दूर झोपड़ी से एक पांच वर्षीय मासूम को सोते समय उठाया गया था।

कामांध ने मासूम के साथ दुराचार किया और उसे झाड़ी में फेंक दिया। लखनऊ ट्रामा संेटर में आपरेशन के बाद मासूम की जान बची। यह मामला ठंडा भी नही हुआ था कि 18 जून को डीएम आवास से महज 50 मीटर दूर एक डग्गामार बस के टूल बाक्स में एक मासूम का शव पाया गया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट से पता चला कि मासूम बालिका की हत्या गला दबाकर की गयी। हत्या से पहले उसके साथ दुराचार भी किया गया। हालाकि पुलिस ने इन दोनों वारदातों का खुलासा कर महेश तिवारी नामक युवक को जेल भेजा है। सोमवार को खुशी के दिन-दहाड़े अपहरण और दुराचार की वारदात ने शहर में फिर से सनसनी फैला दी है। सीओ सिटी योगेन्द्र सिंह का कहना है कि खुशी के मामले की छानबीन की जा रही है। एसपी रोहन पी कनय का कहना है कि मामले में कठोर कार्यवाही की जाएगी।

– नीरज तिवारी