उप्र के 113 ब्लाकों में भूजल की स्थिति बेहद गंभीर


लखनऊ : उत्तर प्रदेश सरकार ने आज राज्य विधानसभा में स्वीकार किया कि राज्य में 113 ब्लाकों में भूजल के हालात बेहद गंभीर है जबकि 59 ब्लाकों में भूजल खतरनाक स्तर पर पहुंच गया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रश्न प्रहर के दौरान कहा कि सरकार इस मसले पर बेहद गंभीर है और डार्क जोन में भूजल के स्तर को बेहतर बनाने के लिये एक नीति के तहत काम किया जायेगा।

उन्होने कहा, “हमने ग्रामीण क्षेत्रों में नये तालाब के निर्माण और शहरी इलाकों में वर्षा जल संचयन प्रणाली समेत कई योजनाये शुरू की हैं। इसके अलावा सरकार वृक्षारोपण और जल सरंक्षण के लिये शुरू किये गये अभियानों को प्रोत्साहित कर रही है।” समाजवादी पार्टी (सपा) के नरेन्द्र सिंह वर्मा के सवाल का जवाब देते हुये लघु सिंचाई मंत्री एसपीएस बघेल ने कहा कि सरकार की कोशिश रंग ला रही है।

पिछले तीन साल के दौरान राज्य के नौ ब्लाकों में भूजल की स्थिति पहले से काफी बेहतर हुयी है। गरीबों को गंभीर बीमारी के इलाज के लिये वित्तीय मदद संबंधी बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के मोहम्मद असलम रैनी के सवाल पर संसदीय मामलों के राज्य मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने कहा कि सभी जिलाधिकारियों को इस बारे में तीन दिन के भीतर अपनी रिपोर्ट प्रेषित करने को कहा गया है। इससे पहले जिलाधिकारी अपनी रिपोर्ट देने में काफी समय लगाते थे जिससे जरूरतमंद मरीज सरकारी मदद से महरूम रह जाते थे।

– (वार्ता)