अवैध निर्माणों को स्वयं ध्वस्त करें


मेरठ: मेरठ विकास प्राधिकरण के सभाकक्ष में प्राधिकरण के कार्यो की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए आयुक्त डा. प्रभात कुमार ने कार्यप्रणाली में सुधार करने, प्रत्येक जोन में अवैध निर्माण चिन्हित कर ध्वस्तीकरण की कार्यवाही करने, शमन (कम्पाउडिंग) पर प्रभावी कार्यवाही करने तथा अदालत लगाकर वादों का निस्तारण करने के लिये निर्देशित किया। उन्होंने कहा कि किसी भी ध्वस्तीकरण की कार्यवाही के बाद उसका फोटो लें व बोर्ड लगायें कि यह अवैध निर्माण है खरीद फ्रोख्त न करें। उन्होंने अवैध निर्माण करने वाले निर्माणकर्ताओं से अपील करते हुए कहा कि वह अपने अवैध निर्माणों को स्वंय ध्वस्त करें अन्यथा प्राधिकरण को करना होगा। आयुक्त ने निर्देशित किया चारो अधिशासी अभियंताओं के नेतृृत्व में एक-एक टीम गठित एक-एक रोड आवटित कर हो रहे निर्माण कार्यो को स्वीकृत मैप से मिलान करें और अनियमित्ताओं पर तत्काल नोटिस सौंपे।

उन्होंने कहा अवैध निर्माण जब मुझे दिख रहे है तो आपको क्यों नहीं दिख रहे हैं। उन्होंने बड़े अवैध निर्माणकर्ताओं की सूची समाचार पत्रों में निकलवाने के लिये कहा। आयुक्त ने कहा कि एमडीए के अधिकारी एमडीएम में कार्यरत एक्सेस कर्मचारियों को कार्य पर लगायें तथा फाइलिंग ठीक से करें। उन्होंने बिजली बंबा बाईपास पर किसी एक कालोनी में हो रहे बड़े अवैध निर्माण पर ध्वस्तीकरण की कार्यवाही करने के लिए कहा। ऐसे बड़े अवैध निर्माण जिनके ध्वस्तीकरण से समाज में संदेश जाए उन पर पहले ध्वस्तीकरण की कार्यवाही करें। इस अवसर पर सचिव मेरठ विकास प्राधिकरण राम कुमार, वित्त नियंत्रक वसी मौहम्मद, अधिशासी अभियंता डीसी तोमर, अजीत त्यागी, एपी सिंह, पीपी सिंह, सहायक अभियंता आरके गुप्ता, विनीत कुमार आदि उपस्थित रहे।

– रिशु अग्रवाल