प्रशासन के रवैये के विरोध में सड़क पर उतरे ग्रामीण


अलीगढ़: इगलास कोतवाली क्षेत्र के गांव हस्तपुर पर हो रहे अतिक्रमण को हटाने के लिए लगभग एक सप्ताह पहले लोक निर्माण विभाग के लोगों से सीमान्कन कराया गया था। और एक अगस्त तक का अतिक्रमणकारियों को अतिक्रमण हटाने के लिए समय दिया था। इसके बाद अतिक्रमण को जेसीबी द्वारा हटाने की बात कहीं थी। इस तयसुदा कार्यक्रम से पहले एक अगस्त को तहसील दिवस में आये क्षेत्रीय विधायक राजवीर दिलेर से उपजिलाधिकारी ललित कुमार ने बन्द कमरे में लगभग एक घण्टे तक बैठक की इसके बाद जब क्षेत्रीय विधायक से मीडिया के लोगो ने बात करनी चाही तो वह बगैर कुछ बताये टालमटोल करते हुये चले गये। इसके बाद बुधवार को तयसुदा कार्यक्रम के तहत एसडीएम तहसीलदार मय जेसीबी मशीन के गांव हस्तपुर पहुच गये।

जेसीबी प्रशासनिक अमले को देखकर ग्रामीणों ने पूरा बाजार बन्द कर दिया। और प्रशासन के रवैये के विरोध मे सडक पर उतर आये। ग्रामीण व्यापारियों का कहना था कि उन्होने स्वयं अपने अतिक्रमण में आ रहे निर्माण व अस्थाई अतिक्रमण को हटाना प्रारम्भ कर दिया है। और प्रशासन से दि0 10 तक का समय मांगा था, लेकिन तहसील प्रशासन अपना हटधर्मी का रवैया अपनाते हुये जेसीबी 2 अगस्त को जेसीबी लेकर आ गया, लोगों का कहना था कि यह गलत है। या तो तहसील प्रशासन को उन्हे आश्वासन नहीं देना था, जब आश्वासन दिया था तो उसे पूरा करना था। रक्षा बन्धन का त्यौहार भी नजदीक है। तहसील प्रशासन अपनी हटधर्मता अपनाते हुये उन्हें बेरोजगार करना चाहता है।

जबकि राजस्व विभाग द्वारा 32 फुट का सीमान्कन किया था लेकिन आज लोक निर्माण विभाग द्वारा 45 फुट पर सीमान्कन किया तो ग्रामीण व व्यापारियों का गुस्सा भडक गया और उन्होने तहसील प्रशासन का विरोध करते हुये एसडीएम मुर्दाबाद व तहसीलदार मुर्दाबाद के नारे लगाते हुये एसडीएम का पुतला भी फूंका। ग्रामीणों के विरोध के कारण एसडीएम, तहसीलदार व लोक निर्माण विभाग के अधिकारी मौके से वगैर किसी तोड़ फोड कराये वापस लौट गये। इस सम्बन्ध में उपजिलाधिकारी ललित कुमार का कहना है कि तहसील प्रशासन ने कभी सीमान्कन नही कराया सीमान्कन का काम तो लोक निर्माण विभाग का है रही बात जेसीबी की तो उसकी बुकिंग पहले ही 2 तारीख के लिए कर दी गई थी आज तो सिर्फ जेसीबी को चबूतरा वगैरा जेसे अतिक्रमण को साफ कराने के लिए ले जाया गया लेकिन त्यौहार को देखते हुये वह भी नहीं कराया गया।