कलराज मिश्र की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से गवाही देने की अर्जी खारिज


इलाहाबाद : जवाहर हत्याकांड मामले में केंद्रीय मंत्री कलराज मिश्र को जिला न्यायालय ने बड़ा झटका दिया है। कोर्ट ने उनकी ओर से की गई वीडियो कॉन्फ्रेसिगसे गवाही देने की अर्जी को खारिज कर दिया है। साथ ही न्यायालय ने उन्हें कोर्ट में आकर गवाही देने का समन जारी किया है। 13 अगस्त 1996 को तत्कालिन विधायक जवाहर पंडित हत्याकांडमामले में केंद्रीय मंत्री कलराज मिश्र की जिला न्यायालय में गवाही होनी है।

वहीं कलराज मिश्र ने पूर्व में अर्जी दाखिल करते हुए खुद के अस्वस्थ्य होने की बात करते हुए कोर्ट में आने के बजाय वीडियो कॉन्फ्रेसिगसे बयान देने मांग की थी। अर्जी में कलराज ने यह भी जिक्र किया था कि उनके डॉक्टरों ने किसी भी तरह के सफर पर प्रतिबंध लगाया है। सोमवार को मामले की सुनवाई करते हुए जिला न्यायालय ने कलराज मिश्र की इस अर्जी को खारिज कर दिया है। साथ ही कोर्ट ने समन जारी करते हुए एसओ सिविल लाइंस को निर्देश दिया है कि विशेष वाहन को उनके दिल्ली आवास भेजकर समन की तामील की जाए।

इस दौरान कोर्ट ने यह भी कहा कि गवाहों का बयान खुले में किया जाना चाहिए, ताकि दूसरे पक्ष को जिरह का मौका मिल सके। कलराज की ओर से एक अन्य अर्जी भी सुनवाई के दौरान दी गई है। उस अर्जी में कलराज ने शनिवार को संसद की कार्यवाही नहीं होती। इसलिए शनिवार के दिन ही गवाही की तारीख लगाई जाए। जिसे कोर्ट ने मंजूर भी कर लिया है। हालांकि उन्हें अब गवाही के लि एक कोर्ट में आना ही होगा।