मंत्री ने किया जिला अस्पताल का निरीक्षण


बदायूं: प्रदेश सरकार में कबीना मंत्री एवं जिले के प्रभारी स्वामी प्रसाद मौर्य ने सुबह के वक्त अचानक जिला अस्पताल में छापा मार दिया। उन्हें तमाम अव्यवस्थाएं मिलीं। मंत्री ने ओपीडी में अस्पताल स्टाफ के खड़े वाहन सीज करा दिया तथा सीएमएस-सर्जन के खिलाफ कार्रवाई के निर्देश डीएम को दिए। वार्डों में भी तमाम अव्यवस्थाएं नजर आईं। इस दौरान अस्पताल में हड़कंप मचा रहा। जिले के प्रभारी मंत्री श्री मौर्य बीती शाम ही पीडब्ल्यूडी गेस्ट हाउस पहुंच गए थे। वह जिले के सभी अफसरों से मिले और विकास कार्यों समेत अन्य विषयों पर लंबी चर्चा की। इसके बाद पार्टी पदाधिकारियों, विधायकों से वार्ता की। आज सुबह मंत्री श्री मौर्य काफिले के साथ सीधे सोत नदी पहुंच गए। उन्होंने बेहद बारीकी से निरीक्षण किया। यहां से वह सीधे जिला अस्पताल जा धमके।

हालांकि अस्पताल प्रशासन को पहले ही भनक थी कि मंत्री श्री मौर्य यहां आ सकते हैं, सो टीप-टॉप कर रखी थी, मगर हकीकत की पोल खुल ही जाती है। बताते हैं कि कबीना मंत्री श्री मौर्य जब ओपीडी पहुंचे, तो वहां मरीजों के बैठने के स्थान पर अस्पताल के डाक्टरों समेत अन्य स्टाफ की बाइकें और स्कूटी खड़ी मिलीं। मरीजों की दिक्कतें बर्दाश्त नहीं हुईं, तो मौके पर ही सभी वाहनों को सीज करा दिया। इसके बाद उन्होंने इमरजेंसी समेत अन्य वार्डों का बेहद बारीकी से निरीक्षण किया। उन्होंने तीमारदारों से बात की, तो उन्होंने डाक्टरों पर तमाम गंभीर आरोपों की झड़ी लगा दी। बाहर से दवाएं लिखने का आरोप भी लगाया गया।

मंत्री श्री मौर्य ने कहा कि यह बर्दाश्त के बाहर है। उन्होंने वहीं मौजूद जिलाधिकारी अनिता श्रीवास्तव को निर्देश दिए कि वह सीएमएस प्रवीणा माहेश्वरी तथा सर्जन आरएस यादव के खिलाफ तुरंत कार्रवाई करें। मंत्री के निरीक्षण के दौरान अस्पताल में हड़कंप मचा रहा।इस अवसर पर जिलाध्यक्ष हरीश शाक्य, विधायक महेश गुप्ता, राजीव कुमार सिंह एवं धर्मेंद्र सिंह शाक्य, जितेंद्र सक्सेना, अंकित शाक्य तथा मनोज मोदी आदि मौजूद थे।