मामूली विवाद पर हुई थी रेलवे कर्मी की हत्या


इलाहाबाद : दस माह पूर्व धूमनगंज थाना क्षेत्र में हुई एक रेलकर्मी की हत्या का कारण राह चलते हुए हुआ एक मामूली विवाद था। बाइक से कीचड़ का छींट पडऩे का विरोध करने पर बदमाशों ने उसे मौत के घाट उतार दिया था। इस मामलेमें धूमनगंज पुलिस ने दो युवकों को गिरफ्तार किया है। हालांकि दो आरोपी अभी भी पकड़े नहीं जा सके हैं।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आनन्द कुलकर्णी ने बताया कि पुलिस ने सूबेदारगंज रेलवे स्टेशन के पास से पकड़े गये हत्यारोपियों में दरियाबाद अतरसुइया निवासी इमरान और मंजीत को गिरफ्तार किया है जबकि हत्या में शामिल अब्दुल शुएब, रोहित सोनकर और मुकुल सोनकर अभी भी फरार हैं। एक आरोपी को किसी दूसरी आपराधिक वारदात के मामले में कौशाम्बी पुलिस जेल भेज चुकी है।

उल्लेखनीय है कि रेलवे में टीटीई के पद कार्यरत वीरेन्द्र कुमार निवासी न्याय बिहार कालोनी थाना धूमनगंज की घर से ड्यूटी जाते समय रास्ते में शेरवानी मोड़ के समीप गत वर्ष 26 अगस्त की रात अज्ञात बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। जिसमें पुलिस ने मृतक के चाचा भरत लाल चौधरी की तहरीर पर 27 अगस्त की सुबह हत्या का मुकदमा अज्ञात लोगों के खिलाफ दर्ज करके जांच शुरू कर दिया था।

मामले की विवेचना जारी थी। तत्कालीन इंस्पेक्टर के स्थानान्तरण के बाद वर्तमान में प्रभारी निरीक्षक अरूण कुमार त्यागी को दी गयी। सूबे की सत्ता बदलते ही एसएसपी ने मामले को गम्भीरता से लेते हुए नगर पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ शंकर मीना के नेतृत्व में दो टीमें गठित कर दी। एक टीम के प्रभारी क्राइम ब्रांच के एस.आई नागेश सिंह और दूसरी टीम के प्रभारी इंस्पेक्टर धूमनगंज अरूण कुमार त्यागी को लगाया गया। विवेचना के दौरान मिले सुराग के मुताबिक उक्त लोगों को बुधवार को गिरफ्तार किया गया।

पकड़े गये आरोपियों ने पूछताछ के दौरान बताया कि वारदात के दिन रोहित सोनकर के घर दरियाबाद में बैठकर शुएब, मुकुल सोनकर, इमरान, मंजीत सोनकर एक साथ शराब पिया और सभी लोग बाइक से सूबेदारगंज होते हुए जयरामपुर से शेरवानी मोड़ की तरफ आ रहे थे। इस बीच रास्ते में वीरेन्द्र कुमार चौधरी पैदल अपनी ड्यूटी के लिए जा रहा था। इस दौरान बाइक से गन्दे पानी का छींटा उस पर पड़ गया।

जिसे लेकर उसने विरोध किया तो रोहित और मुकुल से विवाद हो गया। विवाद के दौरान वीरेन्द्र ने ईट उठा लिया, जिससे तैस में आकर अब्दुल शुएब ने तमंचा निकाला और उसके सिर में गोली मारकर दी तथा सभी बाइक से भाग निकले।  वारदात के बाद सभी शहर से बाहर भाग गये। पूछताछ के दौरान बताया कि हत्या में शामिल एक आरोपी दूसरे वारदात के आरोप में जेल जा चुका है।