अघोषित बिजली कटौती से कराह रहे नगर के लोग


शुक्लागंज: एक तरफ योगी सरकार ने शहरी क्षेत्रों में 24 घंटे और ग्रामीण क्षेत्रो में 18 घंटे बिजली देने का ऐलान किया था । वही शुक्लागंज नगर में हकीकत कुछ और ही है । विगत तीन माह से दिन और रात मिला कर सात से आठ घंटे ही आपूर्ति हो पा रही थी । इधर जुलाई की भीषण उमस भरी गर्मी में भी फाल्टों के नाम पर अघोषित बिजली कटौती की जा रही है । जिसमे सबसे ज्यादा बुरा हाल फीडर नंबर 1 का है जिसको सब स्टेशन से जुड़े किसी भी फाल्ट पर घंटो के लिए बंद कर दिया जाता है ।

प्रेम नगर, शक्ति नगर इंद्रा नगर समेत दर्जनों मोहल्ले के निवासियों का कहना है कि बिजली का कोई भरोसा नही है । इतनी ज्यादा बिजली कटौती के कारण उनके घरों के इन्वर्टर तक नही चार्ज हो पा रहे है । उस पर रात की साढ़े दस से एक बजे तक कि रोस्टिंग जले पर नमक का कार्य कर रही है । रात की रोस्टिंग के कारण लोगों में नींद पूरी न होने से उनमे मानसिक अवसाद पैदा होने लगा है ।

लोगों ने बताया कि काम पर झपकी आने से उनको मालिक की डांट फटकार सुननी पड़ रही है । वही बच्चो में चिड़चिड़ापन होने लगा है । इस मामले में विद्युत विभाग के एसडीओ जय सिंह ने बताया कि ऊपर से बिजली कटौती होने के कारण रात की रोस्टिंग की जा रही । और यदि कही फाल्ट होता है तो शट डाउन लेकर मरम्मत की जाती है ।