तानाशाही पर उतरी पुलिस, देर रात महिलाओं को पीटा, की अभद्रता


एटा: अवागढ़ थाने में सिंघम समझने वाले पदस्थ पुलिस कर्मियों की करतूत से एक बार फिर विभाग के बड़े अधिकारियों की किरकिरी हुई है। शनिवार की रात गुंडागर्दी पर उतरी पुलिस ने एटा के सूचना विभाग में तैनात कर्मचारी के नगला ब्लाक घर में घुसकर महिलाओं और बच्चों के साथ मारपीट की तथा अभद्रता की, पीड़ित परिवार ने घटना की शिकायत एसएसपी अखिलेश कुमार चौरसिया से की है। एसएसपी चौरसिया ने पीड़ित परिवार को जांच कर कार्रवाई का आश्वासन दिया है।  अवागढ थाना क्षेत्र के ग्राम नगला ब्लाक निवासी महेश चन्द्र एटा के सूचना विभाग में कर्मचारी हैं।

उनकी पत्नी रामवती ने बताया कि शनिवार की रात करीब 11 बजे अपने आप को सिंघम समझने  वाले अवागढ़ एसओ 10-15 पुलिस कर्मियों को साथ लेकर वादिया के घर में घुस गये, इनके साथ महिला पुलिसकर्मी नहीं थीं। घर में घुसी पुलिस से पूछा कि इस तरह घर में क्यों घुसे तो एसओ व पुलिसकर्मियों ने वादिया व उसकी पुत्री के साथ मारपीट शुरू कर दी। भद्दी-भद्दी गालियां और अभद्रता की व महिलाओं के कपड़े फाड दिये गये तथा चारपाइयां तोड दीं गई। चीखपुकार सुन पडोसी पवन कुमार, ओमप्रकाश, राकेश कुमार, मौहर सिंह, रचना, राजवीर सिंह, कुसमा, शीला, सुनीता बचाने पहुची तो उनके साथ भी पुलिस द्वारा मारपीट की गई तथा अश्लील हरकतें की गईं।

फौजी सेवकदास ने विरोध किया तो उसके साथ भी मारपीट की गई है। पुलिस का यह तांडव करीब 15-20 मिनट तक चला। रामवती ने परिजनों के साथ मिलकर रविवार को सुबह वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक से शिकायत कर मांग की है कि एसओ व पुलिसकर्मियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करने के पश्चात कानूनी कार्रवाई की जाये। एसएसपी ने जांच कर कार्रवाई का आश्वासन दिया है।