शिक्षामित्र कोई ऐसा काम न करें जिससे अव्यवस्था उत्पन्न हो : योगी


लखनऊ : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शिक्षामित्रों से अपील की है कि वे कोई ऐसा काम न करें जिससे अव्यवस्था उत्पन्न हो। सरकार उनके साथ है, वे अपने स्कूलों में पठन-पाठन का काम करें। श्री योगी आज विधान परिषद में बजट चर्चा पर जवाब दे रहे थे। उन्होंने कहा कि सरकार शिक्षामित्रों के साथ अन्याय नहीं होने देगी। सभी मुद्दों पर विचार किया जा रहा है।

शिक्षामित्र कोई ऐसा काम न करें जिससे आम लोगों को परेशानी न हो। वे संयम और धैर्य बनाये रखें। उन्होंने कहा कि एक लाख 72 हजार शिक्षामित्रों के समायोजन की कार्रवाई पर उच्च न्यायालय और उच्चतम न्यायालय ने आपत्ति की। शिक्षामित्रों के प्रतिनिधिमण्डल से बातचीत करने के लिए बेसिक शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव को अधिकृत किया है। श्री योगी ने कहा कि शिक्षामित्रों को सडक पर प्रदर्शन करने की आवश्यकता नहीं है।

संवाद से ही समस्या का समाधान निकलेगा। लोकतंत्र संवाद से चलता है संघर्ष से नहीं। समाधान सहमति और सर्वसम्मति से होगा, सड़कों पर आगजनी करने से नहीं। उन्होंने कहा कि सभी शिक्षामित्र विद्यालयों में पठन-पाठन में लगें। वे वोट की राजनीति करने वालों के बहकावे में नहीं आयें। सभी विकल्प खुले हैं,हिंसा का रास्ता अपनायेंगे तो सरकार को कानून व्यवस्था बनाये रखने के लिए कडे कदम उठाने पड सकते हैं।