डग्गेमार वाहनों पर मौन विभाग


बुलन्दशहर: बुलन्दशहर के जिला प्रभारी मंत्री स्वतंत्र देव सिंह परिवहन मंत्री है। इसी जनपद मेंडग्मेमार वाहन ईको वैन के रूप में लगभग 60 की संख्या में बुलन्दशहर से नौएडा तक चलते है। इस बाबत जिला अधिकारी डा रोशन जैकब द्वारा आर टी ओ को निर्देशित भी किया गया था। आर टी ओकार्यालय द्वारा पंजाब केसरी कार्यालय को अवगत भी कराया गया था कि वह कार्यवाही करने जा रहे है। लेकिन आलम यह है कि अब इन डग्गेमार वाहन चालकों के हौसले इस कदर बुलंद है कि इनकी गाड़ियां अब पुरानी कोतवाली देहात के नजदीक खड़े हाते । इसी से प्रतीत होता है कि इन डग्गेमार वाहन चालकों को पुलिस का भी प्रत्याशित सहयोग मिला हुआ है। मंगलवार को पंजाब केसरी की टीम द्वारा भूड़ चौराहे का दौरा कर वहां पर जाकर डग्गेमार वाहनों की पुष्टि की। इसके साथ ही जब वह आर टी ओ कार्यालय पर पहुचां तो देखा कि वहां पर सड़क के दोनों तरह हटाऐ गए दलाल पुनः बैठे हुए है।

जिसका मतलब साफ था कि यह विभाग वर्तमान में भी काफी कुछ दलालों के ऊपर ही निर्भर कर रहा है। इन दलालों की रोजी रोटी का जरिया यह आर टी ओ कार्यालय बना हुआ है। जिसके बारे में स्थानिय लोगों में चर्चा रही कि यह विभाग न तो इमानदार जिला अधिकारी से खौफ खाता प्रतीत हो रहा है। न ही यह प्रभारी जिला मंत्री स्वतंत्र देव सिंह से भयभीत हो रहा है। क्योंकि उनके प्रभारी क्षेत्र में ही दलालों के मार्फत आमजन के काम हो रहे है। अब दलालों के सानिध्य में कार्य होगें। तो उसका हाल विभाग का कैसा होगा। यह दलाल बैठे हैं। इसको आते जाते हुए आर टी ओ विभागके अधिकारी भी देखते होगें। यहां सेगुजरने वाले अधिकारी अन्य भी देखते होगें। क्योंकि यमुनापुमर स्टेडियम मेंभी अधिकारियों का आना जाना लगा रहता है। इसका सीधा सीधा असर यह है कि इस मामले में इन दलालों को आरटओ विभाग के अलावा पुलिस विभाग द्वारा व नगर पालिका कर्मियों द्वारा भी छूट मिली प्रतीत हो रही है।

– अशोक शर्मा