तीन सटोरिये आईपीएल टीमों के होटल से गिरफ्तार


कानपुर : गुजरात लायंस और दिल्ली डेयर डेविल्स के बीच बुधवार को यहां खेले गये इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के मैच के दौरान सट्टा खिलाने के आरोपी तीन लोगों को पुलिस ने दोनो टीमों के ठहराव स्थल शहर के एकमात्र पांच सितारा होटल से गिरफ्तार करने का दावा किया है। पुलिस सूत्रों ने बताया कि एक सूचना के आधार पर पुलिस और क्राइम ब्रांच की टीम ने देर रात लैंडमार्क होटल की 17वीं मंजिल पर कमरा नम्बर 1733 से दो सट्टेबाजों को धर दबोचा।

इस होटल में आईपीएल की टीमे रुकी हुई है। पुलिस अभी इन सटोरियों से और जानकारी इकट्ठा कर रही है। इस बारे में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक तीन बजे एक प्रेस कांफ्रेस कर ब्योरा देंगे। सूत्रों ने बताया कि बीसीसीआई की विजीलेंस को होटल में सट्टा चलने की सूचना मिली थी जिसके आधार पर क्राइम ब्रांच और थाना पुलिस के साथ देर रात छापा मारा। गिरफ्तार लोगों में मुंबई के ठाणे निवासी रमेश शाह से तीन मोबाइल, 40 लाख रुपये नकद और डायरी मिली है।

यह मूलत: गुजरात का रहने वाला है। इसके साथ पकड़े गए कानपुर देहात के पुखरायां निवासी विकास चौहान से 40 हजार रुपये और दो मोबाइल मिले हैं। उन्होने बताया कि तीसरा आरोपी चुन्नीगंज निवासी रमेश है। मूलत: बिहार का रमेश ग्रीनपार्क स्टेडियम के मैदान में मजदूरी का काम करता है और बुकी रमेश शाह को वह पिच की जानकारी देता था। पुलिस ने बताया कि शाह का देश के हर स्टेडियम में नेटवर्क होने की जानकारी मिल रही है। पुलिस ने कमरा, कॉमन हॉल व सीसीटीवी कंट्रोल रूम सील कर जांच-पड़ताल शुरू कर दी है।

– (वार्ता)