योगी आदित्यनाथ का नई मर्सिडीज लेने से इंकार


लखनऊ: बिना एसी वाले कमरे में तख्त पर आराम करने वाले सादगी पसंद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने लिए अब नई मर्सिडीज गाड़ी खरीदने से इंकार कर दिया है। राज्य संपत्ति विभाग उनके लिए दो नई मर्सिडीज गाड़ी खरीदने की तैयारी में था, लेकिन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पुरानी गाड़ी से चलने पर ही खुश हैं। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य संपत्ति विभाग की उस फाइल को खारिज कर दिया है, जिसमें 3.5 करोड़ की मर्सिडीज बेंज की दो नई एसयूवी खरीदने का प्रस्ताव था। उन्होंने साफ कह दिया कि उनको अखिलेश यादव के कार्यकाल में खरीदी गई पुरानी गाड़ी से चलने में कोई परहेज नहीं है। वह गाड़ी करीब पांच वर्ष पुरानी है। इससे पहले योगी अपने कैबिनेट मंत्रियों के लिए 30 लाख रुपए से ज्यादा की फॉच्र्यूनर खरीदने के लिए राज्य संपत्ति विभाग को मना कर चुके हैं। सीएम ने फॉच्र्यूनर की जगह इनोवा गाड़ी खरीदने के आदेश दिए हैं।

सीएम योगी ने अपने अफसरों से कहा कि उन्हें जनता के खून-पसीने की कमाई मंत्रियों के ऐशो-आराम पर खर्च नहीं करनी चाहिए। राज्य संपत्ति अधिकारी योगेश कुमार शुक्ला ने बताया कि प्रस्ताव भेजा गया था, लेकिन सीएम दफ्तर से फाइल खारिज हो गई। प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ जी की मंशा है कि उनको पुरानी गाड़ी से चलने में कोई परहेज नहीं है। इससे पहले प्रदेश में सरकारी पैसों से मायावती बतौर मुख्यमंत्री एक करोड़ की लैंड-क्रूजर से चलती थीं। वहीं, अखिलेश यादव 1.5 करोड़ की मर्सिडीज का इस्तेमाल करते थे। सपा सरकार जाने के बाद भी सीएम कोटे की एक मर्सिडीज का मुलायम सिंह अब भी इस्तेमाल कर रहे हैं।

अखिलेश ने सरकारी पैसों से दो मर्सिडीज खरीदी थीं। इसमें से एक गाड़ी उन्होंने अपने पिता मुलायम को दे दी थी। चुनाव हारने के बाद अखिलेश ने पुरानी मर्सिडीज सीएम स्टाफ को लौटा दी। लेकिन मुलायम सिंह ने अब तक कार नहीं लौटाई है। जब अफसरों ने मुलायम से गाड़ी वापस मांगने की बात उठाई, तो योगी ने कहा कि नेताजी काफी बुजुर्ग हैं, उनसे गाड़ी न मांगी जाए। अगर वो खुद लौटा देते हैं तो ठीक है।